Omega-3 की कमी के 5 लक्षण, हो सकती है कई दिक्कतें

Omega-3 फैटी एसिड आपके स्वास्थ्य के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण हैं। यह आपके मस्तिष्क और हृदय को सुचारु रूप से चलने के लिए बहुत जरुरी है। गर्भावस्था के दौरान पर्याप्त मात्रा में ओमेगा-3 का सेवन आपके बच्चे के संज्ञानात्मक विकास को बेहतर बनाने, विकास में देरी के जोखिम को कम करने और बेहतर संचार और सामाजिक कौशल को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

यह भी पढ़ें:- Health Tips: यदि आप तेजी से बूढ़ा नहीं होना चाहते तो ये 5 चीजें खाना छोड़ दें

ओमेगा-3 (Omega-3) अवसाद और चिंता के लक्षणों को प्रबंधित करने और कम करने में भी मदद कर सकता है। शाकाहारियों में ओमेगा-3 की कमी काफी आम है। हालाँकि, अन्य पोषक तत्वों के विपरीत, ओमेगा-3 की कमी को अत्यधिक उपेक्षित किया जाता है। इस लेख में हम आपको ओमेगा-3 की कमी के संभावित संकेतों और लक्षणों के बारे में बताएंगे। अधिक जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

ओमेगा-3 की कमी के लक्षण और संकेत

  1. अवसाद
    अध्ययनों के अनुसार, अवसाद से ग्रस्त लोग अक्सर ओमेगा-3 फैटी एसिड के निम्न स्तर की रिपोर्ट करते हैं। यह भी देखा गया है कि ओमेगा-3 सप्लीमेंट लेने से मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है। इसलिए, खराब मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मूड में बदलाव भी ओमेगा-3 की कमी का संकेत हो सकता है।
  2. त्वचा और बालों की समस्या
    शरीर में ओमेगा-3 की कमी का असर आपकी त्वचा पर पड़ सकता है। ओमेगा-3 की कमी से संवेदनशील और शुष्क त्वचा हो सकती है। कुछ लोगों को त्वचा की लालिमा और बढ़े हुए मुँहासे का भी सामना करना पड़ सकता है।
    ऐसे में आपके बालों का स्वास्थ्य भी ख़राब हो सकता है। बालों का झड़ना, पतला होना और रूखापन ओमेगा-3 के कुछ लक्षण हो सकते हैं।
  3. जोड़ों का दर्द
    जोड़ों का दर्द और अकड़न किसी को भी प्रभावित कर सकती है। जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपको इन समस्याओं का अनुभव होने की अधिक संभावना होती है। अध्ययनों से पता चला है कि ओमेगा-3 की खुराक लेने से जोड़ों के दर्द और जकड़न को प्रबंधित करने में मदद मिल सकती है।
  4. सूखी आंखें
    ओमेगा-3 आपकी आंखों के लिए भी महत्वपूर्ण है। ये आपकी आंखों की नमी को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसलिए, यदि आप सूखी आंखों की समस्या से जूझ रहे हैं तो ओमेगा -3 की कमी इसका कारण हो सकती है।
  5. थकान
    थकान आमतौर पर नींद न आने और तनाव से जुड़ी होती है। हालांकि, बहुत से लोग नहीं जानते कि यह ओमेगा-3 की कमी का संकेत हो सकता है।

यह भी पढ़ें:- Bulletproof Coffee क्या है? यह आपके आहार में क्यों जरूरी होना चाहिए ?

ओमेगा-3 फैटी एसिड के खाद्य स्रोत
सैल्मन, सीप, अलसी के बीज, चिया बीज, अखरोट, सोयाबीन और ब्रसेल्स स्प्राउट्स ओमेगा -3 (Omega-3) फैटी एसिड के कुछ अच्छे स्रोत हैं।

नोट: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से परामर्श लें। “सच्चाई भारत की” इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी