शर्मनाक: Manipur के बाद West Bengal से सामने आया दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर पीटाई करने का मामलाशर्मनाक: Manipur के बाद West Bengal से सामने आया दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर पीटाई करने का मामला

मणिपुर (Manipur) में 19 जुलाई को दो महिलाओं को निर्वस्त्र (Nude) कर गांव में घुमाने वाले वायरल वीडियो (viral video) ने देशभर में हर किसी को विचलीत कर दिया था। इस मामले को लेकर चर्चाएं खत्म भी नहीं हुई के अब ऐसी ही एक घटना पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मालदा में सामने आ गई। यहां भीड़ ने दो महिलाओं की पिटाई की गई, और फिर उन्हें अर्धनग्न कर दिया गया।

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मालदा (Malda) में सामने आई इस वीडियो को  BJP के IT सेल हेड अमित मालवीय (Amit Malviya) ने सोशल मीडिया (social media) पर शेयर किया था। ये घटना भी 19 जुलाई की ही बताई जा रही है, जिसका वीडियो दिनाकं 22 जुलाई (शनिवार) को सामने आया।

यह भी पढ़ें:- मां की डाट से नाराज 9 साल के बच्चे ने किया suicide, स्कूल ड्रेस की टाई से बनाया फांसी का फंदा

वीडियो में देखा जा सकता है कि महिलाओं का एक समूह दो महिलाओं को घेरे हुए है। उनके बाल खींचकर चप्पलों से पिटाई (spanking) की जा रही है। इसके बाद उनके बुरी तरह से कपड़े फाड़ दिए गए। फिलहाल पुलिस (Police) की तरफ से इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

दोनों पीड़ित आदिवासी महिलाओं की पुलिस के सामने हुई पिटाई

अमित मालवीय के मुताबिक, यह घटना मालदा के बामनगोला पुलिस स्टेशन के पाकुआ हाट इलाके में हुई। दोनों पीड़ित महिलाएं आदिवासी हैं। मालवीय ने आरोप लगाया कि, जब उनकी पिटाई हो रही थी और कपड़े उतारे जा रहे थे तो पुलिस वहां मूकदर्शक बनी खड़ी हुई थी।

शुक्रवार (21 जुलाई) को हुगली जिले से BJP सांसद लॉकेट चटर्जी ने दावा किया था कि पंचायत चुनाव में हिंसा के दौरान भी एक महिला को निर्वस्त्र कर उसकी परेड निकाली गई थी। उन्होंने कहा कि TMC कार्यकर्ताओं ने एक भाजपा उम्मीदवार के साथ यौन उत्पीड़न किया था। उस घटना का जिक्र करते हुए लॉकेट चटर्जी रोने भी लगीं। उन्होंने कहा कि घटना हावड़ा जिले के दक्षिण पंचला इलाके में हुई थी। हालांकि, इस मसले पर पीड़ित महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

यह भी पढ़ें:- Amarnath Yatra के लिए श्रद्धालुओं ने तोड़ा रिकॉर्ड, 21 दिनों करीब 3 लाख से अधिक लोगों ने किए दर्शन

पीड़ित द्वारा दर्ज की गई FIR के अनुसार, TMC उम्मीदवार हिमंत रॉय ने अन्य लोगों के साथ मिलकर मतदान केंद्र पर महिला के साथ पहले मारपीट की। फिर कुछ लोगों ने साड़ी फाड़ी। महिला का आरोप है कि उसे नग्न होने के लिए मजबूर किया और सरेआम छेड़छाड़ की गई।

बंगाल DGP ने किया दावे का खंडन

हालांकि, बंगाल DGP एम मालवीय ने लॉकेट चटर्जी के इस दावे का खंडन किया। उन्होंने शुक्रवार शाम को जानकारी दी कि हमने घटना की रिपोर्ट दर्ज करके जांच की। जांच में सामने आया कि ऐसी कोई घटना हुई ही नहीं है। बूथ में पुलिस और सेंट्रल फोर्सेज मौजूद थीं। मामले की जांच की जा रही है।

इसके बाद उत्पीड़न का दावा करने करने वाली महिला ने बताया कि उसके साथ बदतमीजी की गई थी। उसने कहा कि कुछ लोगों ने बाल खींचकर उसे पोलिंग बूथ से बाहर निकाला और सीढ़ियों के नीचे फेंका। उन्होंने मेरे कपड़े भी फाड़ दिए। अगर उस समय मेरे पति वहां न होते, तो वे लोग मेरे साथ कुछ भी कर सकते थे।

यह भी पढ़ें:- Bhojpuri actress rape case में आया नया मोड़, पुलिस ने आरोपी को लेकर किया बड़ा खुलासा

मणिपुर में जिन दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया गया था, उनमें से एक के पति आर्मी में सूबेदार थे। उनका कहना कि मैंने करगिल युद्ध में देश को दुश्मनों से बचाया लेकिन दंगाइयों से अपनी पत्नी की इज्जत नहीं बचा सका।

उन्होंने बताया कि हजार लोगों की भीड़ ने गांव पर हमला किया था। मैं भीड़ से अपनी पत्नी और गांव वालों को नहीं बचा पाया। पुलिस वालों ने भी हमें सुरक्षा नहीं दी। भीड़ तीन घंटे तक दरिंदगी करती रही। मेरी पत्नी ने किसी तरह एक गांव में पनाह ली। वह कई दिनों तक सदमे में रही। घटना के ढाई महीने बाद भी उसकी आंखों में गुस्सा और बेबसी है।

https://youtu.be/tZEBAvIpZ-E

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी