Delivery Care

Delivery Care: शिशु का जन्म मां के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे परिवार के लिए खुशी का पल होता है। लेकिन यह काफी जोखिम भरा भी होता है। क्योंकि, इस समय शरीर में कई बदलाव आते है। शरीर को खासा देखभाल की जरूरी होती है। खासकर अगर डिलीवरी नॉर्मल तरीके से हुई हो। डिलीवरी के घावों को भरना में समय लगता है। इसलिए, नॉर्मल डिलीवरी (Normal Delivery) के बाद महिलाओं को अपने शरीर की विशेष देखभाल करनी चाहिए।

डिलीवरी के बाद के पहले छह हफ्तों को पोस्टपार्टम पीरियड (Postpartum Period) कहा जाता है, जो एक मां को रोजमर्रा के कामों के लिए तैयार करने का समय होता है। इसलिए, मांओं को डिलीवरी के बाद कम से कम छह हफ्तों तक काम करने से बचना चाहिए। इससे उनके घाव जल्दी भर जाते हैं और वह रोजमर्रा के काम करने में आसानी होती हैं। संजय गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल की गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. ज्योत्सना देवी इसके बारे में कुछ बताती हैं।

जानें एक्सपर्ट का क्या है कहना

डॉ. ज्योत्सना बताती हैं कि, Delivery Care के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। वह कहती है कि रात में बार-बार बच्चें को दूध पिलाने की वजह से महिलाओं की नींद पूरी नहीं हो पाती है। जिससे महिलाओं को थकान की शिकायत होने लगती है। हालांकि, बच्‍चे के रुटीन में आने के साथ आपकी ये परेशानी भी दूर हो जाती है, लेकिन तब तक के लिए आप कुछ बातों का ध्‍यान रखकर डिलीवरी के बाद अपनी देखभाल कर सकती हैं।

इन जरूरी बातों से मिलेगा आराम

  1. पर्याप्‍त आराम करें: डिलीवरी के बाद थकान को दूर करने के लिए जितना संभव हो आराम करें। दूध पीने के लिए बच्‍चा हर दो से तीन घंटे में नींद से जागता है, इसलिए जब भी आपका बच्‍चा सोए, तभी आप भी झपकी ले लें। इससे आपकी थकान भी दूर हो जाएगी।
  2. परिवार के लोगों की मदद जरूरी: डिलीवरी के बाद शिशु को संभालने के लिए परिवार के सदस्‍य की मदद लेने काफी जरूरी हो जाता है। क्योंकि डिलीवरी के बाद शरीर को रिकवर करने के लिए समय मिल पाय। इसलिए किसी-न-किसी की मदद लेने से आपको ज्‍यादा आराम मिल पाएगा।
  3. संतुलित आहार लें: शरीर को जल्‍दी स्‍वस्‍थ करने के लिए संतुलित आहार लें। अपनी डायट में साबुत अनाज, सब्जियां, फल और प्रोटीन को शामिल करें। इस दौरान खूब पानी पिएं।
  4. व्‍यायाम करें: जिस तहर से स्‍वस्‍थ और फिट रहने के लिए इंसान रोज एक्‍सरसाइज करता है। वैसे ही डिलीवरी के बाद एक्‍सरसाइज करना जरूरी होता है। अगर डिलीवरी के बाद डॉक्‍टर आपको इसकी सलाह देते है तो आप एक्‍सरसाइज कर सकती हैं। लेकिन ज्‍यादा मुश्किल एक्‍सरसाइज न करें। थोड़ा टहल लेना या घर से बाहर निकलना शुरूआत के दिनों के लिए काफी होगा। बाहर खुली हवा में जाने से आपकी एनर्जी बढ़ेगी और मन भी शांत रहेगा।

यह भी पढ़े:  Times 100 Health List: इन 5 भारतीय की बदौलत आये कई बदलाव, जानें कैंसर,अल्जाइमर और मेंटल हेल्थ में कैसे आ रहा सुधार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी