Deoria Warning System

Deoria Warming System: देवरिया जिला में प्रशासन ने मानसून सीज़न के दौरान आसमानी बिजली गिरने से होने वाले हादसों पर बड़ा कदम उठाया है। ये कदम हादसों को कम करने के लिए उठाया गया है। आसमानी बिजली गिरने से होने वाले घातक दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सरकार ने जिले के 50 निर्दिष्ट स्थानों पर चेतावनी उपकरणों का इंस्टॉलेशन करने के निर्देश दिए हैं। ये चेतावनी उपकरण आसमानी बिजली के आगंतुकों को सूचित करने के लिए एक पूर्व-चेतावनी प्रणाली के रूप में कार्य करेंगे।

मौसम से होता नुकसान

मानसून सीज़न में, आसमानी बिजली गिरने से होने से होने वाली मौत और संपत्ति का नुकसान के बारे में अक्सर खबर आती रहती है। मौसम के पूर्वानुमान के बावजूद, कई लोग उचित सावधानियाँ नहीं लेते, जिससे अफसोसनाक परिणाम होते हैं। इस समस्या का सामना करने के लिए, प्रशासन ने चेतावनी उपकरणों की इंस्टॉलेशन को प्राथमिकता दी है जो आसमानी बिजली के आगंतुकों को सूचित करेंगे।

तीन रंग के संकेत शामिल

चेतावनी उपकरणों में कई तरह के खतरों की चेतावनी के लिए तीन रंगों के प्रकाश संकेतक शामिल होंगे। हरा संकेतक सामान्य मौसम की सूचना देगा, जबकि पीला संकेतक लोगों को सावधानी बरतने की चेतावनी देगा। लाल संकेतक आपत्तिजनक खतरे की चेतावनी होगी, जिससे लोग तुरंत शरण ढूंढें।

सुरक्षा की पहल

इन चेतावनी उपकरणों को सार्वजनिक इमारतों और उन क्षेत्रों में इंस्टॉल किया जाएगा, जो आसमानी बिजली के आगंतुकों को प्राथमिकता दी गई है। इस पहल के माध्यम से, सरकार ने समुदाय के सुरक्षा को सुनिश्चित करने और प्राकृतिक आपदाओं के सामने समय पर कार्रवाई करने के लिए अपने प्रतिबद्धता का संदेश दिया है।

यह भी पढ़े: Deoria में एक बार फिर आग का तांडव, दो गायें, 8 बकरियों सहित एक युवक की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी