DoT

DoT: देश के दूरसंचार विभाग ने देशवासियों की सुरक्षा और सुधार के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अवैध और अस्थायी मोबाइल कनेक्शनों को लेकर संशय उठने पर, विभाग ने दूरसंचार ऑपरेटरों को लगभग 6 लाख कनेक्शनों का सत्यापन करने का निर्देश दिया है। यह कदम अवैधता को रोकने में महत्वपूर्ण योगदान देगा और देश की सार्वजनिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने में मदद करेगा। बता दें कि दूरसंचार विभाग ने 6.80 लाख संदिग्ध कनेक्शनों के पुनर्सत्यापन का लक्ष्य रखा। इतना ही नहीं, दूरसंचार विभाग का धोखाधड़ी से लिए मोबाइल कनेक्शनों को खत्म करने का लक्ष्य।

6.80 लाख मोबाइल कनेक्शनों की हुई पहचान

DoT ने टेलीकॉम ऑपरेटरों को 60 दिनों के भीतर पहचाने गए मोबाइल नंबरों का तत्काल पुन: सत्यापन करने का निर्देश जारी किया है। दूरसंचार विभाग (डीओटी) ने लगभग 6.80 लाख मोबाइल कनेक्शनों की पहचान की है, जिनके बारे में संदेह है कि उन्हें अमान्य, गैर-मौजूद या नकली/जाली पहचान प्रमाण (पीओआई) और पते के प्रमाण (पीओए) केवाईसी दस्तावेजों का उपयोग करके प्राप्त किया गया है।

इन बिंदुओं पर होगा काम

  1. संदिग्ध कनेक्शनों की पहचान- उन्नत एआई-आधारित विश्लेषण के आधार पर, दूरसंचार विभाग ने लगभग 6.80 लाख मोबाइल कनेक्शनों को संभावित धोखाधड़ी वाले कनेक्शन के रूप में चिह्नित किया है। पीओआई/पीओए केवाईसी दस्तावेजों की संदिग्धता इन मोबाइल कनेक्शनों को प्राप्त करने में नकली दस्तावेजों के उपयोग की ओर इशारा करती है।
  2. पुन: सत्यापन के लिए निर्देश- दूरसंचार विभाग ने टीएसपी को इन पहचाने गए मोबाइल नंबरों का तत्काल पुन: सत्यापन करने के निर्देश जारी किए हैं। सभी टीएसपी को 60 दिनों के भीतर चिह्नित कनेक्शनों को फिर से सत्यापित करना अनिवार्य है। पुन: सत्यापन पूरा करने में विफल रहने पर संबंधित मोबाइल नंबर बंद कर दिया जाएगा।
  3.  संयुक्त प्रयासों से परिणाम प्राप्त हुए: विभिन्न क्षेत्रों के बीच सहयोग और एआई प्रौद्योगिकी का उपयोग इन धोखाधड़ी वाले कनेक्शनों की पहचान करने में महत्वपूर्ण रहा है, यह पहचान धोखाधड़ी से निपटने में एकीकृत डिजिटल प्लेटफार्मों की प्रभावशीलता को प्रदर्शित करता है।

अप्रैल में, DoT ने पुन: सत्यापन के लिए 10,834 संदिग्ध मोबाइल नंबरों को चिह्नित किया। इनमें से 8,272 मोबाइल कनेक्शन दोबारा सत्यापन में विफल रहने पर काट दिए गए।

यह भी पढ़े: Tecno Spark 20 Pro 5G: बजट में मिलेगा शानदार फोन, 108 मेगापिक्सल कैमरे के साथ कमाल के फिचर्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी