Gorakhpur, Uttar Pradesh, Geo Tagging, Consumers. Electricity Meter. Smart Meter, Infrastructure Development, Public Services, Utility Services, Perpaid Smart Meters, gorakhpur city uttar pradesh,gorakhpur uttar pradesh,gorakhpur city in uttar pradesh, Gorakhpur news, Electricity,

Gorakhpur News: गोरखपुर-बस्ती जिले में प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। इन प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने का काम जीनस कंपनी को दिया गया है। जो मीटर की आपूर्ति कर रही है और उपभोक्ताओं के परिसर में मीटर लगा रही है। उपभोक्ता अपनी जरूरत के मुताबिक प्रीपेड रिचार्ज करा रही है। इन स्मार्ट मीटर की वजह से जिस तरह से फोन, टीवी का प्रीपेड रिचार्ज किया जाता है ठीक उसी तरह से मीटर रिचार्ज किया जा सकेंगा। आपको बता दें, जीनस कंपनी सभी उपभोक्ताओं के परिसर में पहुंचकर 38 मानकों पर कनेक्शन की जियो टैगिंग करा रही है।

27 लाख मीटर लगाने की स्वीकृति

गोरखपुर और बस्ती जिले के 34 लाख बिजली उपभोक्ताओं के परिसर में स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाने हैं। पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने दोनों मंडलों में 27 लाख मीटर लगाने की स्वीकृति दे दी है। पहले से उपभोक्ताओं के परिसर में स्मार्ट मीटर लगा है, उनको छोड़कर हर परिसर में स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे। उसके बाद 30,000 से ज्यादा उपभोक्ताओं की जियो टैगिंग हो चुकी है। काम को तीन महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। हालांकि, जियो टैगिंग के बीच जून से ही मीटर लगाने की शुरुआत होगी।

यह भी पढ़े: Deoria Wedding: देवरिया बारात जा रही कार का फटा टायर, दुल्हे के भाई समेत 5 की मौत

मीटर लगाने की प्रक्रिया के पहले चरण में फीडरों और ट्रांसफार्मरों की जियो टैगिंग की गई है। सबसे पहले यहीं मीटर भी लगाए जाएंगे। अब उपभोक्ताओं के परिसर में पहुंचकर टैगिंग चल रही है।

27 महिने में लगेंगे मीटर

प्रबंधक राकेश सिंह ने कहा कि उपभोक्ताओं को सर्वे में सहयोग की अपील की जा रही है। 38 बिंदुओं में उपभोक्ता का पूरा ब्योरा के साथ मोबाइल नंबर, फीडर व ट्रांसफार्मर आदि की भी जियो टैगिंग की जा रही है। पूरी प्रक्रिया के बाद एक-एक कनेक्शन आनलाइन दर्ज हो जाएगा।

नही, सभी काम को करना के लिए 27 महीने का समय तय किया गया है। वहीं, तीन महीने में मीटर लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। जिसके बाद जियो टैगिंग का काम शुरू किया जाएगा। अभी तक दो सौ कर्मचारी काम कर रहे हैं, बाद में पांच सौ कर्मचारियों को रखकर काम कराया जाएगा।

जीनस कंपनी के कर्मचारी उपभोक्ता के परिसर में पहुंचकर सेल्युलर नेटवर्क भी देख रहे हैं। जियो और एयरटेल कंपनी में जिसका नेटवर्क परिसर में अच्छा है, उसका सिम लगाने का भी जिक्र कर रहे हैं।

यह भी पढ़े:  Saharanpur: प्रेम-प्रसंग में युवक ने खुद को गोली से उड़ाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी