Hypertension:

Hypertension: तनाव के स्तर बढ़ते जा रहे हैं, एक चौंकाने वाला सांख्यिकी उभरता है – हर चौथे व्यक्ति की हाइपरटेंशन से जूझ रही है, जो उन्हें हार्ट फेल्योर और स्ट्रोक के जोखिम के साथ अधिक खतरे में डाल देता है। जैसा कि यह चुपचाप खतरनाक मारक है, इसके हानिकारक प्रभावों से बचाव के लिए प्राथमिकताएं समझना अत्यंत आवश्यक है।

क्या है हाइपरटेंशन?

हाइपरटेंशन, अक्सर “चुपचाप मारक” के रूप में कहा जाता है, व्यक्तियों के स्वास्थ्य पर चुपचाप संक्रमण मचाता है और रक्तचाप स्तरों को उच्च करके, ह्रदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ाता है। यह स्थिति, अगर अनदेखा छोड़ दिया जाता है, तो गंभीर स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का कारण बन सकती है, जिसमें अंगों के नुकसान और मौत भी शामिल हैं।

विशेषज्ञों ने हाइपरटेंशन को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए जीवन शैली में परिवर्तन का महत्व जाहिर किया है। फल, सब्जी, और पूरे अनाजों से भरपूर संतुलित आहार लेना और नमक की मात्रा कम करना रक्तचाप स्तरों को काफी कम कर सकता है। नियमित शारीरिक गतिविधि, जैसे तेज चलना या साइकिलिंग, न केवल वजन प्रबंधन में मदद करती है बल्कि हृदय स्वास्थ्य को भी सुधारती है।

योग से होगा हाइपरटेंशन कम

इसके अलावा, ध्यान धारणा तकनीकों जैसे ध्यान, योग, या गहरी सांसें लेने की अभ्यास तनाव स्तरों को कम करने में विशेषता रखते हैं और कुल संवेदनशीलता को बढ़ावा देते हैं। इसके अलावा, शराब की मात्रा को सीमित करना और तंबाकू उत्पादों से बचना हाइपरटेंशन निवारण में महत्वपूर्ण चरण हैं।

  • बालासन: योग का ये पोज हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए बेहतरीन माना जाता है. यह स्ट्रेस कम करने में मददगार है।इसके साथ ही इस पोज को करने से पूरे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है।
  •  शवासन: ये एक बेहद ही आसान पोज है जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। ये दिमाग को शांत कर तनाव को दूर करता है. इसके साथ ही सिरदर्द और थकान को भी मिटाता है और ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार साबित होता है।
  • सुखासन: ये आसन सांस को रेगुलेट करने के साथ ही दिमाग से तनाव को दूर कर मन को शांति देता है जिससे ब्लड प्रेशर पर कंट्रोल कर पाना संभव होता है। एक शांत मन स्वस्थ शरीर का निर्माण करता है।
  • भुजंगासन: इस आसन को करने से शरीर में ब्लड और ऑक्सीजन का फ्लो बेहतर होता है। साथ ही ये स्ट्रेस को दूर कर दिल की सेहत का भी ध्यान रखता है।
  • ब्रिज पोज: ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए ये आसन भी काफी कारगर है। इसे करने से दिमाग शांत होता है और तनाव खत्म होता है।

चिकित्सकीय का सलाह जरूरी

नियमित स्वास्थ्य जांच मानदंड निगरानी के लिए अपरिहार्य हैं, ताकि रक्तचाप स्तरों का अनुगमन किया जा सके और किसी भी गहन स्वास्थ्य समस्या को त्वरित छानने में मदद मिल सके। चिकित्सकीय सलाह लेना और निर्धारित दवाओं का पालन करना हाइपरटेंशन का प्रबंधन प्रभावी ढंग से कर सकता है और संबंधित जोखिमों को कम कर सकता है। जबकि हाइपरटेंशन एक महत्वपूर्ण स्वास्थ्य खतरा प्रस्तुत करता है, एक स्वस्थ जीवन जीने के लिए स्वस्थ जीवन शैली और सक्रिय कदमों का अध्ययन करने से व्यक्तियों को इस चुपचाप मारक संक्रमण से लड़ने में मदद मिल सकती है।

नोट: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से परामर्श लें। “सच्चाई भारत की” इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

यह भी पढ़े: Summer Health: गर्मियों में धूप और लू से बचने के लिए अपनाये ये उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी