Lucknow Crime

Lucknow Crime News: लखनऊ के मोहनलालगंज तहसील से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सोहावा गांव में बुधवार शाम एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई। पुलिस ने एक 14 साल की लड़की का शव कब्र से बाहर निकाला, जिसे चोरी-छिपे दफनाया गया था। यह खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गई, और सबके मन में एक ही सवाल था कि आखिर पिता ने अपनी बेटी को चोरी से क्यों दफन किया?

शराबी पिता की हैवानियत का पर्दाफाश

इस घटना की शुरुआत 5 मई को हुई, जब पिता सजीवन ने अपनी 14 वर्षीय बेटी का शव घर में ही दफना दिया। उस समय पत्नी सुनीता मायके में थी। 15 दिन बाद, सजीवन ने पत्नी को फोन कर बताया कि उनकी बेटी घर से भाग गई है। जब सुनीता वापस आई, तो पति ने उसे बंधक बना लिया और कहीं बाहर नहीं जाने दिया। किसी तरह घर से निकलकर सुनीता ने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई।

शराब के नशे में डूबा पिता

सजीवन के तीन भाई हैं और उनके पास 100 बीघा खेती की जमीन है। तीनों भाई अपने हिस्से की खेती करते हैं, जबकि सजीवन मजदूरी करता है। उसके परिवार में 7 लोग हैं – 2 बेटे, 2 बेटियाँ, पत्नी और बूढ़ी माँ। सजीवन शराब का आदी है और नशे में अक्सर पत्नी और बच्चों को मारता-पीटता था।

पत्नी की पिटाई और पैर तोड़ने की घटना

मार्च महीने के होली के आसपास, सजीवन शराब पीकर घर आया और पत्नी सुनीता से झगड़ा करने लगा। सुनीता ने घर में कुछ न होने की बात कही, तो सजीवन ने उसे डंडे से इतनी बेरहमी से मारा कि उसका पैर टूट गया। गुस्से में आकर सुनीता मायके चली गई।

बच्चों के साथ डर के साये में जी रहे थे

सुनीता के मायके जाने के बाद, सजीवन अपने दोनों बेटों और छोटी बेटी के साथ गांव में रहने लगा। लेकिन उसकी हरकतें नहीं रुकीं। वह रोज शराब पीकर घर आता और बच्चों के साथ मारपीट करता। बच्चे डर के मारे देर रात घर का दरवाजा भी नहीं खोलते थे।

घटना की शुरुआत कैसे हुई

5 मई की सुबह 7 बजे, सजीवन ने अपने दोनों बेटों अमर और समर को बताया कि उनकी बहन ने फांसी लगा ली है। लेकिन जब वे कमरे में पहुंचे, तो बहन का शव फांसी पर लटका नहीं मिला, बल्कि जमीन पर पड़ा हुआ था और गले पर पंजे के निशान थे।

Meerut Murder: मासूम बच्चों के सामने की पिता की हत्या, गोली मारकर आरोपी फरार

सजीवन ने शव को घर के पीछे भूसे में छिपा दिया और दोनों बेटों को चाकू दिखाकर धमकाया कि किसी को बताया तो उन्हें भी मार देगा। उसी रात, उसने घर के पीछे बने छप्पर के नीचे 4 फुट गहरा गड्ढा खोदा और 4 पैकेट नमक डालकर बेटी का शव दफना दिया।

पत्नी को 15 दिन बाद बेटी के भागने की सूचना

मृत लड़की के मामा जयशंकर ने पुलिस को बताया कि मेरी बहन मायके में थी, जब जीजा ने फोन करके बताया कि रंजना लापता हो गई है। सुनीता जब घर पहुंची, तो सजीवन ने उसे घर से बाहर नहीं जाने दिया। सुनीता किसी तरह घर से निकली और थाने जाकर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

बेटों ने दोस्तों को दी जानकारी

अमर और समर घटना के बाद किसी को कुछ नहीं बता पा रहे थे। कुछ दिन बाद उन्होंने अपने दोस्तों को बताया कि पिता ने बहन को घर के पीछे दफना दिया है। लेकिन गांव में सजीवन के खराब रवैये के कारण कोई उससे पूछने की हिम्मत नहीं जुटा पाया।

पुलिस की पूछताछ में खुलासा

मृत बेटी की मां सुनीता ने अपने भाई को सूचना दी। भाई ने आकर सुनीता को थाने ले जाकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने गांव में पूछताछ की तो शक सजीवन पर ही गया। सजीवन को थाने बुलाकर सख्ती से पूछताछ की गई, तो उसने कबूल किया कि उसने बेटी को घर के पीछे दफना दिया है। हालांकि, उसने हत्या की बात नहीं मानी और दावा किया कि बेटी ने फांसी लगाई थी।

पड़ोसियों को था पिता पर शक

आसपास के लोगों ने बताया कि सजीवन नशे का आदी है और रोजाना शराब पीकर पत्नी से मारपीट करता था। उन्होंने संभावना जताई कि सजीवन ने पहले बेटी के साथ गलत काम किया और फिर उसकी हत्या कर दी। फिलहाल, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और रिपोर्ट के बाद ही सच्चाई सामने आएगी।

Gorakhpur में सनसनीखेज घटना, युवती से छेड़खानी के बाद छत से फेंका, चार आरोपियों की तलाश जारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सीने पर ऐसा टैटू बनवाया कि दर्ज हुई FIR, एक पोस्ट शख्स को मुशीबत में डाला इस वजह से हार्दिक पंड्या को नहीं बनाया कप्तान ऑल इंडिया मुस्लिम जमात ने CM योगी के फैसले का किया समर्थन बॉलीवुड छोड़ने के बाद हॉलीवुड में प्रियंका चोपड़ा ने रचा इतिहास ख़त्म हुआ हार्दिक-नताशा का रिश्ता,तलाक की ख़बर से उठा पर्दा, बेटे को लेकर कही ये बात