Mango Shake

Mango Shake: गर्मियों के मौसम को आम का मौसम भी कहा जाता है और फलों के राजा आम को बहुत से लोग बेहद पसंद करते हैं। आम को कई अलग-अलग तरीकों से खाया जा सकता है। कुछ लोग इसे साबुत फल के रूप में खाता है, तो कोई इसका आमरस बनाकर पीता है। कई लोग इसे मैंगो शेक के तौर पर पीना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस स्वादिष्ट पेय पदार्थ का अत्यधिक सेवन सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है?

मैंगो शेक के अत्यधिक सेवन से होने वाले नुकसान

गर्मियों में मैंगो शेक पीना स्वादिष्ट तो होता है, लेकिन इससे स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव भी पड़ सकते हैं। अगर आप भी मैंगो शेक के शौकीन हैं, तो इसके संभावित नुकसान के बारे में जानना आपके लिए जरूरी है।

पेट की समस्याएं

मैंगो शेक में शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है, जो पेट से संबंधित समस्याएं बढ़ा सकती है। गर्मियों में गैस, एसिडिटी, और अपच की समस्याएं सामान्य होती हैं, और मैंगो शेक का अधिक सेवन इन समस्याओं को और बढ़ा सकता है।

एलर्जी

कई लोगों को आम या इसके तत्वों से एलर्जी हो सकती है। अगर आपको आम या इससे बनी चीजों से एलर्जी है, तो मैंगो शेक पीने से बचना चाहिए। एलर्जी के लक्षणों में त्वचा पर रैश, खुजली, और सांस लेने में तकलीफ शामिल हो सकते हैं।

शरीर में गर्मी

मैंगो शेक में अत्यधिक मिठास होने के कारण यह शरीर में गर्मी और जलन की वजह बन सकता है। इसके ज्यादा सेवन से शरीर में पानी की कमी (डिहाइड्रेशन) भी हो सकती है, जिससे गर्मियों में और भी अधिक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

Mango Shake

वजन में बढ़ोतरी

वजन कम करने की इच्छा रखने वालों के लिए मैंगो शेक का अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है। मैंगो शेक में शुगर और फैट की मात्रा अधिक होती है, जिससे वजन बढ़ सकता है। इसलिए, वजन नियंत्रण के लिए इसे सीमित मात्रा में ही पीना चाहिए।

शरीर में पानी की कमी

मैंगो शेक में नेचुरल शुगर के साथ-साथ रिफाइंड शुगर की मात्रा भी बहुत होती है। इसके अत्यधिक सेवन से शरीर में पानी की कमी (डिहाइड्रेशन) हो सकती है, खासकर गर्मियों में जब शरीर को अधिक पानी की जरूरत होती है।

ये परेशानी भी है आम

  1. शुगर की मात्रा: मैंगो शेक में आम के प्राकृतिक शर्करा के साथ-साथ अतिरिक्त रिफाइंड शुगर भी मिलाई जाती है, जिससे इसकी कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है।
  2. फैट का स्रोत: शेक बनाने में उपयोग किए जाने वाले दूध और क्रीम से इसमें फैट की मात्रा भी बढ़ जाती है, जो वजन बढ़ाने में सहायक हो सकती है।
  3. संक्रमण का खतरा: ताजे फल और दूध का उपयोग सही तरीके से न करने पर फूड पॉइजनिंग या संक्रमण का खतरा भी हो सकता है।

सीमित मात्रा में ले आम

गर्मियों में मैंगो शेक का सेवन संतुलित मात्रा में ही करना चाहिए। इसके अत्यधिक सेवन से स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं, जैसे पेट की समस्याएं, एलर्जी, शरीर में गर्मी, वजन बढ़ना, और पानी की कमी। स्वस्थ रहने के लिए संतुलित और संयमित आहार अपनाना जरूरी है। अगर आप मैंगो शेक का आनंद लेना चाहते हैं, तो इसे सीमित मात्रा में और संयमित तरीके से पिएं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ की सलाह लेकर ही अपनी डाइट में बदलाव करें और स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं।

नोट: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से परामर्श लें। “सच्चाई भारत की” इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

यह भी पढ़ें: Swelling in Feet: पैरों की सूजन सामान्य नहीं, हो सकती है गंभीर बीमारियां, रहें सावधान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी