Modi 3.0

Modi 3.0: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने से पहले अपने संभावित मंत्रियों को फोन कर बुलावा भेजा है। इस बार की कैबिनेट में कई दिग्गज नेता और नए चेहरे शामिल हो सकते हैं। जिन नेताओं को मंत्री पद की शपथ के लिए बुलाया गया है, उनमें चार पूर्व मुख्यमंत्री – राजनाथ सिंह, शिवराज सिंह चौहान, मनोहर लाल खट्टर और एचडी कुमारस्वामी के नाम प्रमुख हैं। इसके अलावा, मोदी 2.0 में मंत्री रहे नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, ज्योतिरादित्य सिंधिया और अर्जुन राम मेघवाल को भी फिर से जिम्मेदारी मिलना तय माना जा रहा है।

TDP सांसद राम मोहन नायडू भी मंत्री बनेंगे। 36 साल के राम मोहन भारत के सबसे कम उम्र के मंत्री होंगे। LJP(R) से चिराग पासवान, JDU से रामनाथ ठाकुर और ललन सिंह, HAM के जीतनराम मांझी और अपना दल (एस) की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल को भी मंत्री बनाया जा सकता है। हरियाणा से मनोहर लाल के अलावा राव इंद्रजीत को भी फोन आया है। माना जा रहा है कि कैबिनेट में यूपी-राजस्थान और गुजरात की हिस्सेदारी घटेगी।

पीएम आवास पहुंचे नेता

पीएम आवास पर मंत्री बनने वाले ये 41 नेता पहुंचे हैं। इनमें अमित शाह, जेपी नड्डा, बीएल वर्मा, पंकज चौधरी, शिवराज सिंह चौहान, अन्नपूर्णा देवी, अर्जुन राम मेघवाल, ज्योतिरादित्य सिंधिया, मनोहर लाल खट्टर, नितिन गडकरी, नित्यानंद राय, हर्ष मल्होत्रा ​, भागीरथ चौधरी, एचडी कुमारस्वामी, किरण रिजिजू, जितिन प्रसाद, रवनीत सिंह बिट्टू, राजनाथ सिंह, राव इंद्रजीत सिंह, अजय टम्टा, जीतन राम मांझी, चिराग पासवान, निर्मला सीतारमण, सर्बानंद सोनोवाल, जी किशन रेड्डी, पीयूष गोयल, जयंत सिंह चौधरी, धर्मेन्द्र प्रधान, बंदी संजय, श्रीपद नायक, जितेंद्र सिंह, हरदीप पूरी, शोभा करंदलाजे, मनसुख मंडाविया, ललन सिंह, शांतनु ठाकुर, रामदास अठावले, राम मोहन नायडू, सी पेन्नासानी, रामनाथ ठाकुर, प्रताप राव जाधव शामिल हैं।

इतिहास की बराबरी, लेंगे शपथ

नरेंद्र मोदी आज शाम 7:15 बजे राष्ट्रपति भवन में तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। इससे पहले उन्होंने सुबह महात्मा गांधी और पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि पर श्रद्धांजलि दी। इसके बाद नेशनल वॉर मेमोरियल पर शहीदों को नमन किया।

शपथ लेने के साथ ही मोदी पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू के लगातार तीन बार प्रधानमंत्री बनने के 62 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। नेहरू 1952, 1957 और 1962 में लगातार 3 बार विजयी होकर पीएम बने थे। हालांकि, नेहरू की सरकार पूर्ण बहुमत की थी। मोदी की तीसरी पारी गठबंधन की बुनियाद पर चलेगी। देश में 1990 के दशक से गठबंधन की राजनीति चल रही थी। इस चलन को मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने 2014 और 2019 में पूर्ण बहुमत हासिल करके तोड़ा था। हालांकि, 2024 में भाजपा 240 सीटों पर सिमट गई और बहुमत के लिए उसे अपने सहयोगी दलों की जरूरत पड़ी।

Modi Oath-taking: सहयोगी दलों की मांगों को लेकर तैयारियाँ, शपथ ग्रहण समारोह पर आया बड़ा अपडेट, जानें

महाराष्ट्र में हलचल

NDA के खराब प्रदर्शन के बाद महाराष्ट्र में सहयोगी दलों में नाराजगी बढ़ी है। NCP (अजित पवार गुट) के किसी नेता को अभी तक मंत्री पद के लिए फोन नहीं आया है। राज्यसभा सांसद प्रफुल्ल पटेल को मंत्री बनाने की चर्चा थी, लेकिन फिलहाल NCP नेताओं के नाराज होने की खबर है। डिप्टी CM देवेंद्र फडणवीस दिल्ली में NCP नेता सुनील तटकरे के घर पहुंचे हैं, जहां अजित पवार, प्रफुल्ल पटेल और पार्टी के अन्य नेता मौजूद हैं। फडणवीस उन्हें मनाने और नए ऑफर के साथ पहुंचे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई कैबिनेट की घोषणा के साथ ही भारतीय राजनीति के नए अध्याय की शुरुआत होगी। जनता और नेताओं की निगाहें इस पर टिकी हैं कि कौन-कौन से चेहरे इस बार सरकार में शामिल होंगे और देश को नई दिशा देंगे।

7 राष्ट्र प्रमुख को निमंत्रण

7 जून को संसद के सेंट्रल हॉल में हुई मीटिंग में NDA नेताओं ने मोदी को अपना नेता चुन लिया। अब शपथ का इंतजार है। समारोह में चीन, पाकिस्तान और अफगानिस्तान को छोड़कर 7 पड़ोसी देशों- श्रीलंका, बांग्लादेश, मालदीव, सेशेल्स, मॉरिशस, नेपाल और भूटान के राष्ट्र प्रमुख शामिल होंगे।

Nitish Kumar: नरेंद्र मोदी की सरकार बनने से पहले केसी त्यागी के बयान, गरमा गई सियासत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी