UP News

Pan Masala Ban: उत्तर प्रदेश में पान मसाला और तंबाकू के बारे में हाल ही में एक महत्वपूर्ण निर्णय आया है। यहां पर एक ही दुकान पर पान मसाला और तंबाकू की बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस निर्णय का मुख्य उद्देश्य खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम-2006 के तहत निर्धारित नियमों का पालन करना है। यह नियम 2011 में बनाए गए थे, जिसमें यूपी की सीमा में तंबाकूयुक्त पान मसाला के विनिर्माण, पैकिंग, भंडारण, वितरण, और बिक्री पर पाबंदी लगाई गई थी।

जून से पान मसाल और तंबाकू प्रतिबंधित

इस निर्णय का पालन करते हुए, सभी जिलाधिकारियों और संबंधित अधिकारियों को प्रतिबंध को लागू करने के लिए अधिकारिक पत्र भेजा गया है। इस प्रतिबंध को अंमल में लाने का निर्णय 1 जून 2024 से हो गया है।

इस निर्णय के पीछे का मुख्य कारण खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम के तहत निर्धारित नियमों का पूरा अनुपालन करना है। 2011 में बनाए गए नियमों के अनुसार, खाद्य सुरक्षा ने यूपी की सीमा में तंबाकूयुक्त पान मसाला के विनिर्माण, पैकिंग, भंडारण, वितरण, और बिक्री पर पाबंदी लगाई थी। लेकिन इसका पूरा अनुपालन नहीं हो पा रहा था।

Lucknow: खाना खाकर सो रहे दलित मजदूर पर युवक ने किया पेशाब, MP में भी हो चुकी हैं ऐसी घटना

एक साथ नहीं बेच सकेंगे दोनों

इस प्रतिबंध के बाद, उत्तर प्रदेश में दुकानदार पान मसाला और तंबाकू के पैकेट एक साथ बेच नहीं पाएंगे। यह नियम सामाजिक और स्वास्थ्य संबंधी दृष्टिकोण से बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि तंबाकू और पान मसाला के सेवन से बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा, इस प्रतिबंध से सामाजिक और आर्थिक रूप से भी लोगों को एक स्वस्थ और नशा मुक्त जीवन की दिशा में प्रेरित किया जा रहा है।

पान मसाला खाने से होता हैं ये नुकसान 

कैंसर: पान मसाला और तंबाकू के सेवन से मुंह, गला, और फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। यह कैंसर का प्रमुख कारण है।

मुंह की समस्याएं: तंबाकू और पान मसाला के सेवन से मुंह में छाले, घाव, और मसूड़ों की बीमारी (जैसे पेरिओडॉन्टल डिजीज) हो सकती है। इससे दांत भी खराब हो सकते हैं।

दिल की बीमारियां: तंबाकू के सेवन से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, जैसे हृदयाघात (हार्ट अटैक) और उच्च रक्तचाप।

श्वास संबंधी समस्याएं: तंबाकू के सेवन से फेफड़ों की क्षमता कम हो जाती है, जिससे सांस लेने में कठिनाई, ब्रोंकाइटिस, और अस्थमा जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

पाचन तंत्र की समस्याएं: पान मसाला और तंबाकू के सेवन से पेट में अल्सर और पाचन तंत्र से जुड़ी अन्य समस्याएं हो सकती हैं।

प्रजनन स्वास्थ्य: तंबाकू का सेवन पुरुषों और महिलाओं दोनों के प्रजनन स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। इससे पुरुषों में नपुंसकता और महिलाओं में गर्भपात और जन्मजात विकृतियाँ होने का खतरा बढ़ जाता है।

मस्तिष्क पर असर: तंबाकू के सेवन से मस्तिष्क पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिससे याददाश्त कमजोर हो सकती है और मानसिक तनाव बढ़ सकता है।

व्यसन (लत): तंबाकू और पान मसाला में निकोटिन होता है, जो अत्यधिक लत लगाने वाला पदार्थ है। इससे इसे छोड़ना बहुत मुश्किल हो जाता है।

सामाजिक और आर्थिक प्रभाव: तंबाकू के सेवन से न केवल स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है, बल्कि इसके कारण आर्थिक समस्याएं भी होती हैं, जैसे कि इलाज पर खर्च और काम करने की क्षमता में कमी।

UP Crime: सीतापुर में धमाकेदार लूट, बदमाशों ने पिकअप से बांध कर उखाड़ा ATM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी