लोकसभा चुनाव के चुनाव लड़ेगी Seema Haider? इस संबंध में BJP की सहयोगी इस पार्टी ने दिए बड़े संकेतलोकसभा चुनाव के चुनाव लड़ेगी Seema Haider? इस संबंध में BJP की सहयोगी इस पार्टी ने दिए बड़े संकेत

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) तक प्रेम में पड़कर भारत पहुंचने वाली पाकिस्तानी नागरिक सीमा हैदर (Seema Haider) की पॉलिटिक्स में एंट्री के भी कयास लगाए जाने लगे हैं। भाजपा (BJP) की सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) ने इस संबंध में बड़े संकेत दिए हैं। पाकिस्तान (Pakistan) से चार बच्चों के साथ सीमा ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के रबूपुरा गांव (Rabupura Village) पहुंची है।

चार साल पहले 2019 में पबजी गेम (PUBG Game) के जरिए रबूपुरा के सचिन मीणा (Sachin Meena) और पाकिस्तान के करांची (Karachi) की रहने वाली सीमा हैदर एक-दूसरे के संपर्क में आए थे। दोनों की दोस्ती प्रेम में बदली। इसके बाद सीमा पाकिस्तान से यूएई (UAE) होते हुए नेपाल (Nepal) पहुंची। वहां से बस के जरिए ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा तक पहुंच गई। पिछले दिनों उसको लेकर लगातार चर्चा का माहौल गरमाया रहा है। उसके आईएसआई (ISI) से संबंधों की जांच एजेंसियों (Investigation Agencies) की ओर से की गई। हालांकि, एजेंसियों को अब तक इस संबंध में कोई सबूत हाथ नहीं लगा है। सचिन के साथ शादी रचा लेने वाली सीमा को लेकर अब कई प्रकार के मामले सामने आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें:- Rape Case पर Allahabad High Court ने की टिप्पणी, कहा- कानून के पक्षपाती रवैये के कारण पुरुषों के साथ हो रहा अन्याय

सीमा हैदर को पिछले दिनों फिल्मों के ऑफर की खबर सामने आई। अब आरपीआई की ओर से उसको चुनावी मैदान में उतारे जाने की चर्चा की जा रही है। आरपीआई के राष्ट्रीय प्रवक्ता किशोर मासूम का इस संबंध में बयान सामने आया है। उन्होंने सीमा को अपनी पार्टी में शामिल करने की बात कही है।

किशोर का कहना है कि अगर सीमा हैदर के खिलाफ तमाम जांच सही रहते हैं। वह निर्दोष पाई जाती है। उसके जासूस नहीं होने का मामला बनता है और अगर उसे भारत की नागरिकता मिल जाती है तो फिर पार्टी में सीमा को शामिल किया जा सकता है। आरपीआई यूपी महिला विंग का उसे अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

आरपीआई के राष्ट्रीय प्रवक्ता किशोर मासूस मूल रूप से जेवर के दयानतपुर गांव के रहने वाले हैं। यहां से रबूपुरा गांव कुछ ही दूरी पर स्थित है। उन्हें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले का करीबी माना जाता है। किशोर अपनी बात में आगे जोड़ते हुए सीमा हैदर की तुलना कई अन्य नेताओं से करते हैं। साथ ही कहते हैं कि अगर सीमा को भारत की नागरिकता मिलती है तो पार्टी के चुनाव चिह्न पर उसे मैदान में उतारा जा सकता है। इसके पीछे की वजह उसकी अच्छी वक्ता होना बताते हैं।

यह भी पढ़ें:- इलेक्ट्रिक बसों में AC में सफर करने वाले यात्रियों को देना पड़ेगा ज्यादा किराया

सीमा हैदर के चुनावी मैदान में उतारने की बात आरपीआई नेता की ओर से की गई है। लेकिन, इसके लिए संवैधानिक प्रावधानों को जानना जरूरी है। भारत में चुनाव लड़ने के लिए सबसे पहली प्राथमिकता उम्मीदवार के भारतीय नागरिक होने का है। साथ ही, संबंधित व्यक्ति का नाम मतदाता सूची में शामिल होना जरूरी है। लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए देश के किसी भी राज्य की मतदाता सूची में नाम होना जरूरी है।

वहीं, विधानसभा का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार का नाम संबंधित राज्य के किसी भी जिले की मतदाता सूची में रहना जरूरी है। स्थानीय प्राधिकार या निकाय चुनाव लड़ने के लिए संबंधित क्षेत्र की मतदाता सूची में नाम होना जरूरी है। अभी सीमा हैदर भारत की नागरिक नहीं है, तो उस स्थिति में उसका चुनावी मैदान में उतरना संभव नहीं है।

https://youtu.be/tOZP1rLS8hs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी