UP Crime: मौज-मस्ती करने के लिए 7वीं कक्षा के छात्र का किया अपहरण, फिर उतारा मौत के घाट

UP Crime: उत्तर प्रदेश के चित्रकूट से हत्या का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहाँ कक्षा 7 में पढ़ने वाले एक छात्र का अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। इस खौफनाक घटना को किसी और ने बल्कि उसके साथी छात्रों ने अंजाम दिया था। आरोपी छात्र 11वीं और 12वीं में पढ़ते हैं। उन्होंने मृतक के व्यापारी पिता से 50 लाख कि फिरौती मांगी थी लेकिन भेज खुलने के डर से आरोपियों ने छात्र कि ईट से कुचक्र बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया।

पुलिस ने बताया कि छात्र के अपहरण कि साज़िश मृतक के गांव के ही रहने वाले 11वीं के छात्र ने की थी। आरोपी के ने 12वीं के एक छात्र को अपने प्लान के बारे में बताया तो वो भी उसके प्लान में शामिल हो गया। उसके बाद इन दोनों ने एक छत्र को अपने प्लान का हिस्सा बनाया और गुटखा व्यापारी के बेटे को अपना शिकार बनाया।

MP Crime: प्रेमी संग भाग गई थी बेटी, परिजनों ने उतारा मौत के घाट

तीनो छात्रों ने मिलाकर रैपुरा गांव निवासी गुटखा व्यापारी राजधर के बेटे सुधांशु के अपहरण को पूरी प्लानिंग के तहत अंजाम दिया था। आरोपियों को लगा था कि वो कभी पकड़े नहीं जायेंगे। लेकिन फ़ोन कॉल कि वजह से महज 6 घंटे के अंदर ही पकड़े गए।

पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद आरोपियों ने बताया कि 50 लाख कि फिरौती अपने मौज-मस्ती के लिए मांगी थी। ये लोग फिरौती के पैसे से स्कॉर्पिओ खरीदकर घूमना फिरना चाह रहे थे। जब आरोपियों को पता चला कि सुधांसु के पिता के पास काफी पैसा है तो उन्होंने सुधांसु को अपहरण करके उसके पिता से पैसे लेना आसान लगा। उसके बाद उन्होंने प्लानिंग के तहत अपहरण की घटना को अंजाम दिया। फील तीनो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है पुलिस चौथे साथी की गिरफ़्तारी की कोशिश कर रही है।

पहले अपहरण, फिर हत्या

प्लानिंग के अनुसार सबसे पहले एक अभियुक्त ने किसी के मोबाइल से सिम चोरी किया फिर तीनो ने मिलकर कक्षा 7 में पढ़ने वाले सुधांसु का अपहरण किया। आमिर परिवार से होने की वजह से सुधांसु एक दो दिन के लिए घूमने चला जा था इसलिए उसके अपहरण को परिजनों ने गंभीरता से नहीं लिया। लेकिन सुधांसु के पिता के मोबाइल पर कॉल आया और उसके अपहरण की बात बताई गई तो उनके पैरों के नीचे से जमीं ही खिसक गई। अपहरणकर्ताओं ने यह फोन कॉल चोरी के सिम को सुधांशु के मोबाइल में डालकर किया था. जब सुधांशु के पिता ने अपहरणकर्ताओं के अकाउंट में रकम ट्रांसफर करने की बात कही तो वे लोग नगद पैसा मांगने लगे।

UP Crime: अश्लील वीडियो देखकर 5 साल कि बच्ची से किया दुष्कर्म

मिली जानकरी के अनुसार सुधांशु के दोस्तों ने उसे चित्रकूट के देवांगना के जंगलों में मौज-मस्ती करने के लिए लेकर गए थे। जब सुधांसु के सामने उसके अपहरण करने की बात बताई तो सुधांसु भड़क गया और उनके चंगुल से छूटने पर सबकी पोल खोलने के लिए बोलने लगा। ऐसे में भेद खुलने के डर से तीनो छात्रों ने सुधांसु को पत्थर से कूचकर मौत के घाट उतार दिया।

आरोपियों को लगा कि चोरी की सिम का उपयोग करने से वो पकड़े नहीं जाएंगे लेकिन लेकिन चित्रकूट पुलिस ने सिर्फ 6 घंटे के अंदर इस अपहरण और हत्याकांड का खुलासा करके तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के अनुसार, इस पूरी योजना में एक चौथा युवक भी शामिल था, जिसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहे हैं।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी