UP Incident, UP News, Fire Tragedy, Family Tragedy, Car Accident, mother and son burnt in fire, Car fire, Burn Injury, Rescue Operation, Hospital Admission, Kasganj, Kasganj UP, UP car fire, Kasganj car fire, burnt alive in car, Uttar Pradesh, Kasganj Uttar Pradesh,

UP Incident: कासगंज जिले में शुक्रवार सुबह हुई एक दर्दनाक घटना से सभी सदमे में है। महिला और उसकी ढाई माह का बच्चा कार में जिंदा जल गए। पत्नी मीना और ढाई माह के बच्चे को खो चुके आशीष यादव बदहवासी की स्थिति में है। बरेली से पति-पत्नी कार से मथुरा दर्शन करने के लिए निकले थे। गोद में ढाई माह का बेटा भी था। रास्ते में कार अनियंत्रित होने के कारण माइल स्टोन से टकरा गई। जिससे कार में अचानक आग लग गई।

पति आशीष के हाथ और पैर भी झुलस गए थे। पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसका उपचार चल रहा है। घटना के संबंध में बदहवासी के बीच आशीष ने बताया कि जैसे ही पोल से कार टकराई, उसके बाद पलक झपकते ही पहले धुआं सा उठा और फिर तेज आग की लपटें आई। घटना में पति तो किसी तरह बाहर निकल गया, लेकिन गोद में बच्चे को लेकर बैठी मां को मौका नहीं मिला। जब पुलिस पहुंची तो मां-बेटे के अवशेष ही मिले।

क्या है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, बरेली के थाना भमोरा के गांव रफियाबाद के रहने वाले आशीष यादव (30) अपनी पत्नी मीना (25) और ढाई माह के बेटे बाबू के साथ मथुरा दर्शन करने के लिए निकले थे। जब उनकी कार कासगंज के ढोलना थाना क्षेत्र के भगवंतपुर के समीप पहुंची तो कैनाल बाईपास पर लगे एक माइल स्टोन से अनियंत्रित होकर टकरा गई। टक्कर होते ही कार की सीएनजी किट आग लग गई। देखते ही देखते धमाके के साथ पूरी कार को आग ने चपेट में ले लिया। कार चला रहे आशीष कूदकर अपनी जान बचाई। हालांकि वह भी झुलस गए थे। आशीष ने अपनी पत्नी और बच्चे को बचाने का प्रयास किया किया, तब तक आग विकराल रूप ले चुकी थी। कार में उनकी पत्नी और बच्चा जिंदा जल गए।

परिवार दे रहा सांत्वना

घटना की खबर पाते ही परिवार के लोग भी जिला अस्पताल पहुंच गए और उसे झूठी सांत्वना दे रहे थे कि सब ठीक है कुछ नहीं हुआ है, लेकिन जो मंजर उसकी आंखों ने देखा उस मंजर के आगे किसी की सांत्वना उसके गले नहीं उतर रही थी और वह तड़प रहा था। बता दें, रात करीब एक बजे अपने घर से निकले और सुबह करीब तीन बजे बाईपास पर सड़क संकेतक बोर्ड के पोल से उनकी कार बेकाबू होकर टकरा गई और तुरंत ही कार में आग लग गई। आशीष खुद गाड़ी चला रहा था, जबकि उसकी पत्नी व बच्चे पीछे की सीट पर बैठे हुए थे। 

मौके पर ग्रामीण पहुंचे

कार टकराने के बाद एक ट्रक चालक की मदद से आशीष बाहर निकल पाया और देखते ही देखते कार आग का गोला बन गई। आशीष अपनी पत्नी और बच्चे को बचाने की कोशिश करता रहा। आग लगने पर गाड़ी के टायर फटने से तेज धमाका हुआ। तेज आवाज सुनकर भगवंतपुर के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। लेकिन भीषण आग की लपटों के बीच कुछ कर नहीं सके। अज्ञात ट्रक चालक ने परिवार के लोगों को मामले की जानकारी दी। पुलिस को सूचना दी।

यह भी पढ़े: Uttar Pradesh: अयोध्या में 93 बच्चों को किया रेस्क्यू,थी बड़े साजिशा की आशंका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी