UP News

UP News: गुरुवार को उत्तर प्रदेश से जम्मू जा रही एक बस अखनूर क्षेत्र में 150 फीट गहरी खाई में गिर गई, जिससे 22 लोगों की मौत हो गई और 69 लोग घायल हो गए। बस में अलीगढ़ और हाथरस के तीन गांवों के कुल 60 श्रद्धालु सवार थे। हादसे की खबर मिलते ही गांवों में चीख-पुकार मच गई और हर तरफ मातम छा गया। अब तक अलीगढ़ के 2 और हाथरस के 9 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं, और मौतों का आंकड़ा बढ़ सकता है।

हादसे की खबर सुनकर गांवों में पसरा मातम

जैसे ही हादसे की सूचना अलीगढ़ और हाथरस के गांवों में पहुंची, लोग बेहद परेशान हो गए। जिन परिवारों के सदस्य जम्मू गए थे, उनके घरों के बाहर भीड़ लग गई। हर कोई अपने परिजनों की खैरियत जानने के लिए बेचैन था। गांवों में किसी के घर का चूल्हा तक नहीं जला। वहीं, नगला गांव में में हादसे की खबर पहले ही फैल चुकी थी। यहां पता चला कि 28 मई को अलीगढ़ के इगलास के नाया गांव से बस जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना हुई थी, और 8 जून को लौटनी थी।

बस में थे मथुरा और राजस्थान के यात्री भी

नगला गांव के लोगों ने बताया कि बस में नाया गांव के 35, हाथरस के मुरसान क्षेत्र के नगला उदय सिंह के 15 और मझोला गांव के 10 लोग थे। बस ड्राइवर ने कुछ अन्य क्षेत्रों से भी यात्रियों को बैठाया था, जिनमें मथुरा और राजस्थान के भरतपुर के लोग भी शामिल थे। सभी वैष्णो देवी के दर्शन के बाद ज्वाला जी, नैना देवी, हरिद्वार और ऋषिकेश जाना चाहते थे। देर रात जिला प्रशासन ने उदय सिंह नगला के निवासी वीरपाल, यश, राजो और राधेश्याम की पत्नी धर्मावती की मौत की पुष्टि की। गांव के 11 लोगों की अब तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

यह भी पढ़ें:  Deoria: मेडिकल कॉलेज की तीसरी मंजिल से छलांग लगाया मरीज, हुई मौत

गांवों में छाया दुख का माहौल

राजकुमारी नामक महिला ने बताया कि उनके परिवार से भी कई लोग इस यात्रा पर गए थे। दोपहर में उन्हें खबर मिली कि बस जम्मू में पलट गई है। पिछले साल भी कुछ लोग गए थे और सुरक्षित लौट आए थे, लेकिन इस बार हालात अलग हैं।

परिवारों में अनिश्चितता का माहौल

नगला गांव के राजू ने बताया कि उनके परिवार के 5 सदस्य जम्मू-कश्मीर गए हैं और अब तक उनका कुछ पता नहीं चल पाया है। गांव के लोग प्रशासन से संपर्क करके अपने परिजनों की जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। इसी तरह, राजेश ने बताया कि उनके परिवार के 7 लोग इस यात्रा पर गए थे और उनमें से 3 लोग सुरक्षित हैं, लेकिन बाकी 4 की कोई खबर नहीं है।

मझोला गांव में भी मातम

मझोला गांव के 10 लोग भी इस बस में सवार थे, जिनमें से 5 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। उप जिलाधिकारी सदर लवलीत कौर गांव पहुंचीं और पीड़ित परिवारों से बात की। गांव के प्रधान पति पूरन सिंह ने बताया कि हादसे में रणवीर सिंह, प्राची, रेनू, जय प्रकाश और राहुल की मौत हुई है।

नाया गांव में भी पसरा सन्नाटा

शाम को नाया गांव पहुंचे अधिकारियों ने लोगों को हौसला दिया और कहा कि सभी की जानकारी जुटाई जा रही है। गांव के पुरुषोत्तम ने बताया कि उनके परिवार के 4 लोग इस यात्रा पर गए थे, जिनमें से 2 की मौत हो चुकी है। बाकी की हालत का पता नहीं चल पाया है।

इस हादसे ने अलीगढ़ और हाथरस के कई गांवों को गमगीन कर दिया है। लोग अपने परिजनों की सलामती के लिए प्रार्थना कर रहे हैं और प्रशासन से हर संभव जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। प्रशासन भी घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य में जुटा हुआ है।

यह भी पढ़ें:  Banda UP: शादी से पहले प्रेमी के साथ फरार होने वाली दुल्हन, 13 जुलाई को होनी थी शादी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी