Way to Drink Water

Way to Drink Water: क्या आप जानते हैं कि पानी पीने का सही तरीका क्या है? हाल के समय में, कई लोगों को बोतल से खड़े होकर पानी पीने की आदत होती है। हालांकि, आयुर्वेद के अनुसार, यह आदत सेहत के लिए अच्छी नहीं हो सकती। खड़े होकर या लेटकर पानी पीने से पाचन तंत्र पर बुरा असर पड़ सकता है और आपके सामान्य विकास पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। चलिए, जानते हैं कि पानी पीने का सही तरीका क्या है और इसके गलत तरीके से पानी पीने के क्या खतरे हो सकते हैं।

हो सकती है यह परेशानी

खड़े होकर पानी पीने से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। यहां कुछ वजहें हैं:

  1. चोकिंग का खतरा: खड़े होकर पानी पीने से पानी सही तरीके से नहीं जाता, और अक्सर गलत रास्ते से जा सकता है, जिससे चोकिंग का खतरा हो सकता है।
  2. पाचन समस्या: खड़े होकर पानी पीने से पाचन प्रणाली ठीक से काम नहीं करती, जिससे पेट के अंदर पानी का सही इस्तेमाल नहीं होता।
  3. गुर्दे की समस्या: कुछ लोगों को गुर्दे से संबंधित समस्या होती है और खड़े होकर पानी पीना उनके लिए और भी खतरनाक हो सकता है।
  4. बैक्टीरिया का खतरा: पानी की बोतल या गिलास में बैक्टीरिया हो सकता है। खड़े होकर पानी पीने से बोतल या गिलास से बैक्टीरिया मुँह में जा सकता है और संक्रमण का खतरा हो सकता है।

यह भी पढ़े: Ajwain benefit: ब्लड प्रेशर और वजन कम करने में अजवाइन है असरदार

क्या पानी पीने का सही तरीका

डाइटिशियन अंजू विश्वकर्मा बताती हैं कि हर किसी को पानी गिलास में लेकर धीरे-धीरे और बैठकर ही पीना चाहिए.  सिप सिप करके पानी पीना ही सही तरीका है. खड़े होकर या लेटकर पानी पीना नुकसानदायक हो सकता है. आराम से पानी पीना सबसे सही होता है, इससे पानी शरीर के हर जरूरी अंगों तक पहुंचता है और अपना काम सही तरह कर पाता है.

पानी पीने का सही तरीका यह है कि आप धीरे-धीरे और बैठकर ही पानी पिएं। सिप-सिप करके पानी पीना ही सही तरीका है। खड़े होकर या लेटकर नहीं। इससे आपको कई नुकसान हो सकते है। धीरे-धीरे पानी पीने से शरीर के हर अंग तक पानी पहुंचता है और आपकी सेहत पर सकारात्माक  प्रभाव पड़ता है।

खड़े हो कर पानी पीने से हो सकते है ये साइड इफेक्ट्स

आयुर्वेद एक्सपर्ट्स के अनुसार, खड़े होकर पानी पीने के कुछ संभावित साइड इफेक्ट्स शामिल हो सकते हैं:

  1. पाचन संबंधी समस्याएं: खड़े होकर पानी पीने से पाचन क्रिया प्रभावित हो सकती है, जो पेट संबंधी समस्याओं का कारण बन सकती है।
  2. किडनी की समस्याएं: इस तरह की प्रक्रिया से किडनी पर दबाव पड़ता है, जो किडनी संबंधी समस्याओं का कारण बन सकता है।
  3. फेफड़ों में समस्याएं: खड़े होकर पानी पीने से फेफड़ों में समस्याएं हो सकती हैं, जैसे की सांस लेने में तकलीफ और फेफड़ों की स्वांस की बीमारी।
  4. जोड़ों की दिक्कतें: खड़े होकर पानी पीने से जोड़ों में दर्द और दिक्कतें हो सकती हैं।
  5. उच्च रक्तचाप: इस तरह का पानी पीने से रक्तचाप बढ़ सकता है, जो हानिकारक हो सकता है।
  6. मूत्र इंफेक्शन: खड़े होकर पानी पीने से यूरिन ट्रैक्ट का इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ सकता है।

यदि आप इन साइड इफेक्ट्स से बचना चाहते हैं, तो बेहतर है कि आप बैठकर और धीरे-धीरे पानी पिएं।

नोट: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से परामर्श लें। “सच्चाई भारत की” इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

यह भी पढ़े: Frozen shoulder की तकलीफ से है परेशान, जानें इसके कारण और उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी