देवरिया जिले सभी विकास खंडों में निराश्रित गोवंशों को पकड़ने का अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत अभी तक 3279 गोवंश पशुओं को सेरक्षित किया गया है। मुख्या विकास अधिकारी ने खंड विकास अधिकारीयों को नोडल अधिकारी नामित करते हुए नगर निकायों के ‘कैटल कैचर’ लेकर जिले के विभिन्न क्षेत्रो से बेसहारा गोवंशों को संरक्षित करने का निर्देश दिया है।

ये भी पढ़िए: देवरिया: मांगलिक कार्यक्रम से लौट रही अनियंत्रित कार बिजली के खम्भे से टकराई

पकड़े गए सभी गोवंशों को जनपद में चल रहे विभिन्न गौआश्रय स्थल पिपरपाती, रायपुर चकलास, बरहज, कान्हा गौआश्रय, गौरी बाजार, सलेमपुर, मझौलीराज, रावतपार, लार खाटी भेंडापाकर, भाटपाररानी में संरक्षित किया जा रहा है। इस अभियान के कारण सड़क पर घूम रहे छुट्टा पशुओं से कुछ हद तक छुटकारा मिल चुका है।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे गरीब बना देंगी फाइनेंस से जुड़ी कुछ आदतें, आज ही बदल डालें