Aurangabad Case

Aurangabad Case: औरंगाबाद में हुए एक दर्दनाक मामले में 16 साल की छात्रा की मौत से शहर में आक्रोश फैला हुआ है। छात्रा के अद्वितीय मृत्यु के पीछे उसके घरवालों की शिकायत और पुलिस की गहन जांच जारी है। इसी बीच, दो आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद स्थानीय लोगों में नाराजगी का माहौल बना हुआ है। पुलिस ने 2 नामजद आरोपियों रोहित कुमार (20) एवं अनिता देवी (45) को अरेस्ट कर लिया है। इसके साथ ही अनिता देवी की नाबालिग बेटी को विधि निरुद्ध किया गया है।

क्या है पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, 11 जून को जब छात्रा कोचिंग के लिए निकली लेकिन घर नहीं लौटी। जिसके बाद बाद तो उसकी की मां ने नबीनगर थाना में अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। जिसमें उन्होंने उस बच्ची को भी नामजद किया है। तो उसकी की मां ने नबीनगर थाना में अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। जिसमें उन्होंने उस बच्ची को भी नामजद किया है, जिससे मृतका सबसे ज्यादा क्लोज थी। दरअसल, छात्रा का शव इंद्रपुरी बराज में सड़ा हुआ मिला। यह घटना 13 जून की है। शरीर से स्कीन तक निकल गई थी। मौत के कारणों का खुलासा अब तक नहीं हुआ है। शहर में दो दिन लगातार प्रदर्शन भी हुए। जिसके बाद पुलिस ने 24 घंटे में कार्रवाई का दावा किया है।

इस मामले में एक महिला को गिरफ्तार किया गया है। सदर एसडीपीओ-1 संजय कुमार पांडेय नो बताया कि अनिता देवी नबीनगर में ब्यूटी पार्लर चलाती है। स्थानीय लोगों से पूछताछ में उसके बारे में नकारात्मक बातें पता चली हैं। वह मृतका और उसके कथित प्रेमी को मिलाने का काम करती थी। उसकी नाबालिग बेटी मृतका की दोस्त थी, वह भी इन दोनों के बीच मेडिएटर का काम करती थी।

फोन से चैट का दावा

इस मामले में पुलिस ने दावा किया है कि छात्रा ने सोमवार की रात एक लड़के से चैट पर बातें की थी। पुलिस इसे प्रेम-प्रसंग से जोड़ रही है। फिलहाल मामले का खुलासा नहीं होने से लोगों में आक्रोश है। बच्ची का शव पानी में काफी सड़ चुका था। बॉडी से स्किन भी निकल चुकी थी। जिसे देख कर लोगों ने आशंका जताई कि तेजाब डालकर और धारदार हथियार से मारकर फेंक दिया गया।

एसिड अटैक से पुलिस ने किया इनकार

डॉक्टर से पूछताछ में पता चला कि पेट से पानी निकला है। कहीं कोई इंज्यूरी नहीं है। तेजाब नहीं फेंका गया है। लाश सड़ चुकी थी, इसलिए बॉडी से स्किन हट चुकी थी। बच्ची की हत्या एसिड डालने से नहीं हुई। हत्या है या आत्महत्या कार्रवाई की जाएगी। पुलिस का कहना है कि हो सकता हत्या की गई हो, किसी ने उसे जीवित अवस्था में फेंक दिया हो। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। मृतका नबीनगर प्रखंड के खैरा गांव की रहने वाली थी।

युवाओं ने किया प्रदर्शन

बच्ची की लाश मिलने के बाद नबीनगर थाने के पास करीब तीन घंटे से ज्यादा देर तक ग्रामीणों और परिजनों ने प्रदर्शन किया। जिसके बाद सदर एसडीपीओ-1 संजय कुमार पांडेय के नेतृत्व में एसआईटी गठित हुई। शनिवार रात भी रमेश चौक के पास युवाओं की एक टोली ने सड़क जामकर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। औरंगाबाद मुख्यालय डीएसपी 1 विनोद कुमार सिंह अपने दल बल के साथ पहुंचे और युवाओं को समझा-बुझा कर सड़क जाम को हटाया। डीएसपी ने युवाओं को आश्वासन दिया कि 24 घंटे के अंदर जो भी आरोपी हैं उसके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Gorakhpur Rape Case: रेप के बाद जिंदा जलाने की कोशिश, पुराना विवाद होनी की आशंका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी