Bulldozer Action:

Bulldozer Action: लखनऊ के अकबरनगर में प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे अतिक्रमण विरोधी अभियान के कारण लोगों में हड़कंप मच गया है। बुलडोजर की आहट सुनते ही लोग अपने घरों का सामान तेजी से हटाने लगे हैं। प्रशासन ने इस अभियान को सुचारू रूप से चलाने के लिए विशेष तैयारियां की हैं और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा है।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष इंद्रमणि त्रिपाठी खुद पूरे मुहिम का नेतृत्व कर रहे हैं। उनके साथ जिला प्रशासन, नगर निगम और पुलिस के आलाधिकारी मौजूद हैं। विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष का कहना है कि LDA यहां 13 सेक्टर में कार्रवाई करेगा।

45 मकान धवस्त, JCB की कार्रवाई जारी

अधिकारियों का कहना है कि आज रहवासियों का सहयोग मिलने से अभियान में आसानी हो रही है। उन्होंने बताया कि पहले दिन कुल 45 मकानों को ध्वस्त किया गया था, जिसमें किसी भी तरह की अप्रिय घटना नहीं हुई। स्थानीय निवासियों ने प्रशासन के साथ मिलकर काम करने का निर्णय लिया है, जिससे अतिक्रमण हटाने का कार्य बिना किसी रुकावट के जारी है।

लोगों का मिल रहा सहयोग

स्थानीय लोगों ने प्रशासन को पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन दिया है। अब लोग अपने घरों का सामान खुद निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रहे हैं, जिससे यह स्पष्ट है कि वे अब प्रशासन के निर्णय के साथ हैं। यह बदलता दृष्टिकोण प्रशासन के लिए एक सकारात्मक संकेत है। अधिकारियों ने बताया कि इस अभियान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया गया है। पुलिस और अन्य सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं ताकि किसी भी प्रकार की अव्यवस्था न हो। उन्होंने यह भी कहा कि इस अभियान का उद्देश्य सिर्फ अवैध निर्माणों को हटाना ही नहीं, बल्कि शहर को व्यवस्थित और सुरक्षित बनाना है।

क्यों की जा रही है कार्रवाई?

  • लखनऊ में कुकरैल नदी के किनारे अवैध मकान बने हुए हैं।
  • यहां पर कुकरैल रिवर फ्रंट विकसित किया जाना है।
  • LDA द्वारा अवैध मकानों-दुकानों को तोड़ा जा रहा है।
  • अकबरपुर एरिया में कुल 13 क्लस्टर बनाए गए हैं।
  • LDA अब तक 1700 लोगों को आवास दे चुका है।
  • घर खाली करने के लिए दी गई थी चेतावनी

दो शिफ्ट में चलाये जा रहा अभियान

  • पहली शिफ्ट- ​​​​​​ सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक
  • दूसरी शिफ्ट- दोपहर 3 बजे से रात 8 बजे तक

जानकारी के मुताबिक, मकान ढहाने के अभियान की पहली शिफ्ट सुबह से दोपहर तक थी। दोपहर बाद दूसरी शिफ्ट में कार्रवाई की गई। दोनों शिफ्टों में 1100 से ज्यादा अवैध कब्जे ढहाने की कार्रवाई जारी रहेगी।

यह भी पढ़े: UP Crime: प्रिंसिपल डीके मिश्रा ने नाबालिग छात्रा से किया दुष्कर्म, वीडियो वायरल होने पर ट्रेन के आगे कूदी पीड़िता

लोगों का पलायन हुआ शुरू

नगर निगम की गाड़ियों पर सामान रखकर लोगों को वसंत कुंज में बने प्रधानमंत्री आवास में भेजा जा रहा है। जिसके बाद अकबरनगर में दूसरे दिन बुलडोजर चल रहे हैं। पहले दिन तोड़े गए मकानों और दुकानों को समतल किया जा रहा है। वही, स्थानीय लोग फ्लैट के लिए पहुंच रहे है। उनको LDA की तरफ से मना कर दिया गया है। उनका कहना है कि अब हम कहां जाएंगे? कोई भी सुनवाई करने वाला नहीं है। हालांकि वीसी ने उनसे फार्म भरने को कहा है। उम्मीद है कि फिर से फ्लैट मिल जाएगा।

अकबरनगर में अतिक्रमण विरोधी अभियान के चलते लोगों का सहयोग मिलना प्रशासन के लिए एक सकारात्मक संकेत है। इससे भविष्य में भी ऐसे अभियानों को सफलतापूर्वक चलाने में मदद मिलेगी और शहर को अवैध निर्माणों से मुक्त करने का उद्देश्य पूरा होगा।

यह भी पढ़े: Amroha: मशहूर Youtuber लक्की चौधरी सहित 3 दोस्तों कि सड़क हादसे में मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 अगस्त को रिलीज नहीं होगी पुष्पा 2, जानिए क्या है वजह एक पिता का परिवार में क्या दर्ज़ा होता है, आज आपको बताते हैं ! हिसार के महिला और हरियाणा ट्रैफिक पुलिस हवलदार के मजेदार चुटकुले जब सलमान की बहन ने सोनाक्षी को भाभी कहा था मजेदार चुटकुले: पुराने ज़माने में औरतें अपने पति का नाम नहीं लेती थीं…