GujaratGujarat

Gujarat में उत्तरायण और वासी उत्तरायण का त्योहार मनाते समय कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई और 130 घायल हो गए। राज्य में पिछले दो दिनों यानि (14-15 जनवरी) में 1,281 दुर्घटनाएं हुईं। वड़ोदरा में दो, राजकोट में दो, कामरेज (सूरत) में दो, विजयनगर में एक, विसनगर में एक, जामनगर में एक, कलोल में एक और भावनगर में एक मौत हुई है।

अहमदाबाद शहर में मांझा से चोट लगने के सबसे अधिक 59 मामले सामने आए हैं। जहां 50 से अधिक लोग पतंग उड़ाते समय छतों से गिर गए, वहीं 130 से अधिक लोगों को कांच-लेपित तार (मांजा) से चोटें आई हैं, जिसका उपयोग पतंग उड़ाने के लिए किया जाता है।

ये भी पढ़िए: Pallavi Joshi: The Kashmir Files की अभिनेत्री का हुआ एक्सीडेंट

पतंग की डोर से 108 घायल, पतंगबाजी के दौरान 34 घायल उत्तरायण के दिन 1,657 घटनाएं हो चुकी हैं। वासी उत्तरायण की शाम तक 817 इमरजेंसी केस आ चुके थे। सूरत, वडोदरा और राजकोट जैसे प्रमुख शहरों में आपात स्थिति की अधिकतम संख्या दर्ज की गई और अहमदाबाद में उच्चतम 91 मामले देखे गए।

लोग शनिवार को पूरे गुजरात में छतों और खुले मैदानों में पतंग उड़ाने के लिए एकत्र हुए क्योंकि उन्होंने उत्तरायण त्योहार को बड़े उत्साह के साथ मनाया।

ये भी पढ़िए: Virat Kohli के सफलता के पीछे स्पेशल 3 लोगों का हाथ, जानिए कौन हैं

केंद्रीय मंत्री अमित शाह और Gujarat के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल भी अपने परिवारों के साथ उत्सव में शामिल हुए। आसमान सभी रंगों और आकारों की पतंगों से भरा हुआ था, जबकि संगीत और व्यंजनों जैसे फाफड़ा-जलेबी, उंधियू और चिक्की ने मस्ती में इजाफा किया। दो साल के अंतराल के बाद यह त्योहार COVID-19 महामारी की छाया के बिना मनाया गया।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इस फोटो में तीन कमिया हैं। सिर्फ 1% लोग ही ढूंढ पाएंगे 41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे