Train में सीट पर पहुंचने में 10 मिनट से ज्यादा की देरी हुई तो कैंसल हो जाएगी टिकट, जानें Indian Railway New Ticket RulesTrain में सीट पर पहुंचने में 10 मिनट से ज्यादा की देरी हुई तो कैंसल हो जाएगी टिकट, जानें Indian Railway New Ticket Rules

Indian Railway New Ticket Rules: शहरों में ट्रैफिक जाम (traffic jam) की बढ़ती समस्या और ट्रांसपोर्टेशन (transportation) में लगने वाले समय की वजह से कई बार लोग भागते-दौड़ते ही अपनी ट्रेन पकड़ पाते हैं। अभी तक अगर यात्री एक-दो स्टेशन बाद भी ट्रेन (Train) में अपनी बर्थ पर पहुंच जाता था तो टीटीई (TTE) उसकी अटेंडेंस मार्क (Attendance Mark) कर देता था।

लेकिन अब कहा जा रहा है कि अगर यात्री को ट्रेन की बोर्डिंग में 10 मिनट से ज्यादा की देरी हुई तो उसकी टिकट कैंसल (Ticket Cancellation) करके सीट दूसरे यात्री (Passenger) को दे दी जाएगी। क्या यह आदेश वाकई सच है या महज अफवाह, आइए आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं।

यह भी पढ़ें:- गुरुग्राम: Bhojpuri Actress को इंटरव्यू के बहाने बुलाकर होटल में किया Rape, Instagram पर हुई थी मुलाकात

एक डेली न्यूजपेपर की रिपोर्ट के मुताबिक अब यात्री को जिस स्टेशन (Station) से ट्रैवल (Travel) शुरू करना है, उसी स्टेशन से ट्रेन में सवार होना पड़ेगा। टीटीई की जांच में अगर कोई यात्री अपनी सीट पर नहीं मिला तो वह 10 मिनट तक उसका इंतजार करेगा। इसके बाद रिकॉर्ड में उसकी अनुपस्थिति दर्ज कर ली जाएगी। इसके साथ ही वह कैंसल सीट ट्रेन में सफर कर रहे दूसरे यात्री को अलॉट कर दी जाएगी।

अब ऑनलाइन दर्ज होता है ब्यौरा

बताते चलें कि अभी तक टीटीई अपने साथ मौजूद यात्रियों की पेपर लिस्ट पर उनकी हाजिरी मार्क करता था। इस प्रक्रिया में वह यात्री के आने का अगले स्टेशन तक इंतजार कर लेता था। लेकिन अब उसे हैंड हेल्ड टर्मिनल दिया जा चुका है। जिसके जरिए वह यात्रियों का टिकट चेक कर उनके आने या न आने की डिटेल भरता है। उनकी यह डिटेल साथ-साथ भारतीय रेलवे के रिकॉर्ड में भी दर्ज होती रहती है।

देरी करने से कैंसल हो सकता है टिकट

रिपोर्ट के मुताबिक अब टिकट बुक करवाने के बाद यात्रियों को हर हाल में अपने बोर्डिंग स्टेशन से ही ट्रेन में चढ़कर अपनी सीट पर पहुंचना होगा। ऐसा न करने पर उनकी टिकट कैंसल कर दूसरे यात्रियों को दी जा सकती है। हालांकि कई बार भीड़ में फंसने पर टीटीई को पैसेंजर की सीट पर पहुंचने में देर हो सकती है। ऐसे में यात्री को थोड़ा एक्स्ट्रा समय तो मिल सकता है लेकिन ऐसा करना खतरे से खाली नहीं रहेगा। लिहाजा जहां पर सीट है, वहां समय से पहुंचना ठीक रहेगा।

https://youtu.be/eaGz9EVkJzk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी