कानपुर के इत्र कारोबारी के मांग को डीजीजीआई ने ठुकराई टैक्स जमा करने की पेशकश। इत्र कारोबारी ने 35.38 करोड़ टैक्स ब्याज और जुर्माना देने की कोर्ट में अर्जी दी थी। प्रभारी विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में अर्जी दी गई थी। इत्र कारोबारी के अर्जी पर डीजीजीआई अहमदाबाद ने आपत्ति दाखिल की। अगले सुनवाई के लिए कोर्ट ने 11 अप्रैल की तारीख नियत की। अदालत ने पीयूष की न्यायिक हिरासत अवधि 11 अप्रैल तक बढ़ाई

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे गरीब बना देंगी फाइनेंस से जुड़ी कुछ आदतें, आज ही बदल डालें