Kashmir TerrorismKashmir Terrorism

Kashmir Terrorism: इस साल कश्मीर में पिछले 5 महीनों में 18 कश्मीरी पंडितों की निर्मम हत्या की गई और 15 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए। जिसमे हाल ही में एक कश्मीरी टीचर और टीवी आर्टिस्ट अमरीन भट्ट की गोली मारकर हत्या की थी। आज कश्मीरी पंडित सरकार से सिर्फ़ एक ही मांग कर रहे हैं- “आतंकवादियों से उनकी रक्षा। आतंकवादी हर दिन हत्या की जघन्य वारदात को अंजाम दे रहे हैं।

ये भी पढ़िए: प्रेमी से मिलाने बांग्लादेश (Bangladesh) से तैरकर भारत आई प्रेमिका, पुलिस ने किया गिरफ्तार

कश्मीर से आज एक और हत्या का मामला सामने आया है जहाँ राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के जिले के नोहर थाना क्षेत्र के भगवान गांव के रहने वाले बैंक मैनेजर विजय कुमार की आतंकियों ने बैंक में घुसकर उन्हें गोलियों से भून दिया। विजय कुमार की अस्पताल ले जाते वक़्त रास्ते में मौत हो गई।

विजय कुमार कुलगाम जिले के अरेह मोहनपोरा स्थित एलाकी देहाती बैंक (EDB) में मैनेजर थे हमले के तुरंत बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस, भारतीय सेना और अर्ध सैनिक बल की एक संयुक्त टीम ने आतंकवादियों का पता लगाने के लिए इलाके की घेराबंदी कर दी।

एक महीने के अंदर 3 मासूम लोगों को आतंकवादियों ने अपना शिकार बनाया

आपको बतादें कि- आतंकियों ने दो दिन पहले ही एक हिंदू टीचर (रजनी) की हत्या कर दी थी, टीचर के हत्या के कुछ दिन पहले ही टीवी आर्टिस्ट अमरीन भट्ट की गोली मारकर हत्या की थी। इसके बाद विजय कुमार को मारा गया वारदात के बाद उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार- विजय कुमार की 6 महीने पहले ही शादी हुई थी पिता ओमप्रकाश बेनीवाल सरकारी स्कूल में टीचर है।

हालाँकि राहुल गाँधी, अरविन्द केजरीवाल और संजय सिंह ट्वीट कर केंद्र सरकार से कश्मीर में हो रहे नरसंहार को रोकने और कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा के लिए गुहार लगा रहे हैं।

राहुल गाँधी ने ट्वीट कर लिखा-
कश्मीर में पिछले 5 महीनों में 15 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 18 नागरिकों की हत्या कर दी गयी। कल भी एक शिक्षिका की हत्या कर दी गयी। 18 दिनों से कश्मीरी पंडित धरने पर हैं लेकिन भाजपा 8 साल का जश्न मनाने में व्यस्त है।
प्रधानमंत्री जी, ये कोई फ़िल्म नहीं, आज कश्मीर की सच्चाई है।

अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा-
इस साल 16 कश्मीरी पंडितों को चुन-चुनकर निशाना बनाया गया है। आज कश्मीरी पंडित सरकार से सिर्फ़ एक ही मांग कर रहे हैं- “आतंकवादियों से उनकी रक्षा। उन्हें सिक्योरिटी दी जाए”।
केंद्र सरकार से मेरी गुज़ारिश है कि कश्मीरी पंडितों को उनकी जन्मभूमि पर रहने के लिए सुरक्षित माहौल दिया जाए।

संजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा-
कश्मीरी पंडितों की नृशंस हत्या से पूरा देश दुःखी है कश्मीरी पंडित पीड़ित होकर कश्मीर से पलायन की बात कर रहे हैं।
कश्मीर में बढ़ रही आरंकवादी घटनाओं और मोदी सरकार की विफलता के ख़िलाफ़ 4 जून को यू पी के सभी ज़िला मुख्यालयों पर धरना/प्रदर्शन होगा।

कमेंट के जरिये आप अपनी राय हमें जरूर दें

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे गरीब बना देंगी फाइनेंस से जुड़ी कुछ आदतें, आज ही बदल डालें