Colonelganj/GondaColonelganj/Gonda

Colonelganj/Gonda: ग्राम सभा की सरकारी भूमि खाली कराने की शिकायत करना व्यक्ति को महंगा पड़ गया, स्थानीय तहसील एवं कोतवाली कर्नलगंज क्षेत्र के ग्राम पंचायत नगवा कला निवासी पेशकार पाण्डेय ने कोतवाली में तहरीर दिया है।

शिकायत कर्ता पेशकार पाण्डेय ने दी गई तहरीर में कहा है कि खलिहान व चकमार्ग की सरकारी भूमि को गांव के ही कुछ दबंग किस्म के लोगों ने कब्जा कर रखा है। जिसे खाली करवाने के लिये हल्का लेखपाल मौके पर पहुंचे और भूमि को खाली करने को कहने लगे। उसी दौरान अवैध कब्जेदार ने उसके ऊपर हमला करके उसकी जमकर पिटाई कर दी। शोर-शराबा सुनकर गांव के लोग पहुंचे और बचाये तब उसकी जान बची।

ये भी पढ़े: दीप आटो मोबाइल ने आजमगढ मे नई 2022 Scorpio Classic एसयूवी को किया लॉन्च

पीड़ित ने अभियोग पंजीकृत कर कार्यवाही किये जाने की मांग की है। पेशकार पाण्डेय ने बताया कि उसने तीन बार सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्रार्थना पत्र देकर चकमार्ग व खलिहान की सरकारी भूमि को अवैध कब्जेदारों से मुक्त कराने की मांग की थी लेकिन लेखपाल हर बार फर्जी रिपोर्ट लगाकर शिकायत को निक्षेपित कर देते थे। बुधवार व गुरुवार को समाचार प्रकाशित होने के बाद हल्का लेखपाल मौके पर पहुंचे और कब्जेदारों को भूमि खाली करने का हिदायत देकर चल दिए।

इस संबंध में तहसीलदार नरसिंह नरायन वर्मा से सम्पर्क कर वार्ता करने का प्रयास किया गया, लेकिन उनसे संपर्क स्थापित नहीं हो सका। वहीं प्रभारी निरीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में नही है,लेकिन यदि ऐसा है तो जांच कराकर सुसंगत कार्यवाही की जायेगी।

पिता रोजगार सेवक, मां शिक्षामित्र और बेटा बना डाक्टर

Colonelganj/Gonda: स्थानीय तहसील क्षेत्र के हलधरमऊ ब्लाक क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत मलौना निवासी साकिब रजा ने सामान्य परिवार में जन्म लेकर गांव के परिवेश में पल बढ़कर इतने आभाव के बाद भी होनहार बिरवान के होत चीकने पात की कहावत को चरितार्थ करते हुए कमाल कर दिखाया है। मिली जानकारी के मुताबिक उन्होंने अपनी दिन-रात की कठिन म्हणत के बदौलत बगैर किसी कोचिंग संस्थान में दाखिला लिए बंद कमरे में पढ़ाई करके वर्ष 2022 की नीट परीक्षा में 720 में से 622 अंक हासिल किया है।

ये भी पढ़े: Deoria ITI: न्यायालय के आदेश पर राजकीय आईटीआई के 2 प्रधानाचार्य समेत 8 पर मुकदमा दर्ज

साकिब के पिता सकील अहमद रोजगार सेवक तो माता सुरैया बानो शिक्षामित्र हैं। किसी ने सही ही कहा है कि निष्ठा,ईमानदारी व कठिन मेहनत की बदौलत व्यक्ति किसी भी मंजिल को हासिल कर सकता है। साकिब की इस सफलता पर पूरे परिवार में जश्न का माहौल है तथा सगे संबंधियों, इष्ट मित्रों ने खुशी जाहिर करते हुए शुभकामना दी हैं।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे गरीब बना देंगी फाइनेंस से जुड़ी कुछ आदतें, आज ही बदल डालें