देवरिया: किशोरी के अपहरण के मामले में फरार चल रहे देवरिया जिला पंचायत सदस्य समेत दो आरोपियों को पुलिस ने सहजौर चौराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां उन्हें से जेल भेज दिया गया।

लार के एक गांव निवासी किशोरी का 2020 में हुआ था अपहरण
लार थाना क्षेत्र के एक गांव की किशोरी का साल 2020 में अपहरण हुआ था। इस मामले में लड़की की मां ने न्यायालय की शरण ली। 30 अगस्त, 2020 को न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ। किशोरी की मां ने बताया कि उसकी 15 साल की बेटी का राजन चौहान, उसके पिता सुमेर चौहान व खुखुंदू के गोविंद ने अपहरण कर लिया है। बाद में किशोरी को बरामद कर लिया गया।

29 दिसंबर, 2020 को लार थाने में किशोरी की मां ने दोबारा मुकदमा दर्ज कराया कि उसकी बेटी का रावतपार रघेन के रहने वाले राजन चौहान व जिला पंचायत सदस्य जनक कुशवाहा ने अपहरण कर लिया है। इस मामले में फरार चल रहे जिला पंचायत सदस्य समेत दोनों आरोपियों को उप निरीक्षक सौरभ सिंह ने सहजौर चौराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों को भेज दिया गया जेल
प्रभारी निरीक्षक प्रदीप शर्मा ने कहा कि मामला पुराना है। आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। उधर जिला पंचायत सदस्य जनक कुशवाहा ने कहा कि उसे साजिश के तहत फंसाया गया है। अगर पुलिस निष्पक्ष जांच करें तो सच सामने आ सकता है।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे गरीब बना देंगी फाइनेंस से जुड़ी कुछ आदतें, आज ही बदल डालें