pmjay ayushman bharat yojana, ayushman bharat scheme ,ayushman bharat yojana card kaise banaye,ayushman bharat yojana registration,ayushman bharat registration,ayushman bharat digital mission,ayushman bharat card kaise banaye,ayushman bharat hospital list,ayushman bharat yojana website,ayushman bharat health insurance,ayushman bharat card,ayushman bharat yojana,ayushman bharat yojana how to apply,ayushman bharat scheme, Ayushman Cards ,Ayushman Bharat Diwas, Healthcare Coverage,

Ayushman Bharat Diwas: आयुष्मान योजना भारत सरकार द्वारा उठाया गया अहम कदम है। आयुष्मान योजना के तहत पांच साल में जयारोग्य अस्पताल में एक लाख 14 हजार 301 मरीज मुफ्त उपचार सुविधा का लाभ ले चुके हैं। इसके इलाज में एक अरब 28 करोड़ 34 लाख आठ हजार 327 की धनराशि खर्च हो चुकी है। वहीं, हर साल 30 अप्रैल को आयुष्मान भारत दिवस 2024 (Ayushman Bharat Diwas 2024) मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य भारत सरकार की महत्वाकांशी योजना आयुष्मान भारत योजना (AB-PMJAY) के लक्ष्यों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

आयुष्मान भारत योजना भारत सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को गरीब और वंचित वर्गों के लिए सुलभ और विश्वसनीय बनाने का प्रयास करती है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) के नाम से भी जाना जाता है, भारत सरकार की एक प्रमुख स्वास्थ्य बीमा योजना है। इसका लक्ष्य देश के लगभग 50 करोड़ आर्थिक रूप से कमजोर और वंचित परिवारों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना है। साथ ही, लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करना है और उन्हें आर्थिक आपातकाल में मुफ्त और उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा सेवाओं तक पहुंचने में सहायता प्रदान करना है।

क्या है Ayushman Bharat Diwas का उद्देश्य

आयुष्मान भारत दिवस का महत्व आयुष्मान भारत योजना के उद्देश्यों को हाइलाइट करना है और इस स्वास्थ्य योजना के लाभों के बारे में लोगों को शिक्षित करना। आयुष्मान भारत योजना भारत सरकार की एक महत्वपूर्ण स्वास्थ्य पहल है।

  • जागरूकता बढ़ाना: यह दिन लोगों को आयुष्मान भारत योजना के बारे में जागरूक करने का एक अवसर है। पात्रता मानदंड, नामांकन प्रक्रिया और लाभों के बारे में जानकारी का प्रसार किया जाता है।
  • लाभार्थियों को सशक्त बनाना: यह दिन लाभार्थियों को उनके अधिकारों के बारे में शिक्षित करने का एक मंच प्रदान करता है।
  • योजना की सफलताओं का जश्न: यह दिन आयुष्मान भारत योजना के तहत हासिल की गई प्रगति का जश्न मनाने का अवसर है।
  • भविष्य के लिए दिशा निर्देश: यह दिन योजना में सुधार के लिए सुझाव आमंत्रित करने और भविष्य के लिए दिशा निर्धारित करने का अवसर है।

10.74 करोड़ से ज्यादा लोगों को फायदा

यह योजना सरकारी और चुने हुए निजी अस्पतालों में माध्यमिक और तृतीयक देखभाल के लिए इन परिवारों को रु. 5 लाख तक का मुफ्त वार्षिक उपचार कवर प्रदान करती है। अभी तक, ग्वालियर जिले में आयुष्मान योजना के तहत मरीजों को मुफ्त इलाज की सुविधा मिलने का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। जिले भर में अभी तक आठ लाख 53 हजार नौ आयुष्मान कार्ड बन चुके हैं। वही, इस योजना के तहत देश में 10.74 करोड़ से ज्यादा गरीब और वंचित परिवार हर साल 5 लाख रुपये का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा प्राप्त करते हैं।

इस योजना में प्री-हॉस्पिटलाइजेशन के तीन दिन, प्री-हॉस्पिटलाइजेशन देखभाल के 15 दिन और अन्य संबंधित शुल्कों का भी ख़याल रखा जाता है। साथ ही, पात्र रोगियों को सरकारी और निजी अस्पतालों में हाजिरी प्राप्त करते हैं।

यह भी पढ़ें: Earth Day 2024: ‘प्लानेट वर्सेस प्लास्टिक’-पर्यावरण संरक्षण की ओर एक कदम, जानिए इस दिन का महत्त्व 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

मिर्जापुर की सलोनी भाभी नेहा सरगम बनी नेशनल क्रश कौन हैं ट्रेनी IAS ऑफिसर पूजा खेडकर ? जो इस वक़्त विवादों में हैं ? ब्रेड के पैकेट पर लिखी हो ये बातें तो भूलकर भी ना खाएं कौन हैं मिर्जापुर में सलोनी भाभी का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री नेहा सरगम फिर युवाओं के दिल पर राज करने आ रही है तृप्ति डिमरी