Medical CollegeMedical College

देवरिया: प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा विभाग आलोक कुमार ने आज महर्षि देवराहा बाबा Medical College का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मिली कमियों पर उन्होंने गहरी नाराजगी व्यक्त की और समयबद्ध तरीके से इन कमियों को दूर करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज आने वाले प्रत्येक मरीज को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधाओं का मिलना सुनिश्चित किया जाए।

प्रमुख सचिव आलोक कुमार आज पूर्वाहन में अचानक महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज पहुंचे। सबसे पहले उन्होंने जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड का निरीक्षण किया। उन्होंने इमरजेंसी में भर्ती मरीजों और उनके तीमारदारों से मिल रही स्वास्थ्य सुविधाओं के विषय में जानकारी प्राप्त की। इमरजेंसी में गर्मी को देखते हुए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को मरीजों की सुविधा के लिए एसी लगाने का निर्देश दिया। प्रमुख सचिव ने कहा कि इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को सबसे पहले स्टेबलाइज किया जाए। फिर आवश्यकता अनुसार संबंधित विशेषज्ञ डॉक्टर से कंसल्ट किया जाए। अत्यंत आवश्यक हो तभी मरीज को अंयत्र रेफर किया जाए।

ये भी पढ़िए: इंतजार करती रही दुल्हन, बारात लेकर नहीं पहुंचा (Greedy Groom) लालची दुल्हा

प्रमुख सचिव ने जिला महिला अस्पताल के गायनोकोलॉजी विभाग का निरीक्षण किया। यहाँ उन्होंने बच्चों की डिलीवरी से जुड़ी जानकारी प्राप्त की। साथ ही मरीजों के साथ आने वाले तीमारदारों के लिए बैठने का स्थान, पेयजल और पंखे की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा। प्रमुख सचिव ने एक्सरे और सीटी स्कैन की सेवाओं को 24*7 उपलब्ध कराने की दिशा में आवश्यक कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। साथ ही गायनोकोलॉजी विभाग को एमसीएच विंग में शिफ्ट करने के लिए सात दिन का समय दिया। उन्होंने कहा कि एमसीएच विंग में बेहतर हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद है। उसका अधिकतम उपयोग होना चाहिए।

ये भी पढ़िए: शादी के तोहफे मिला Teddy Bear हुआ ब्लास्ट, दूल्हे ने गंवाई एक हाथ और आंख

प्रमुख सचिव ने निर्देश दिया कि मेडिकल कॉलेज के सभी कर्मचारियों की बायोमैट्रिक उपस्थिति सुनिश्चित की जाये। इससे नागरिकों को बेतहर स्वास्थ्य सुविधा देने में सहायता मिलेगी। उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज में ब्लड सेपरेशन यूनिट के लिए शीघ्र ही लाइसेंस मिल जाएगा, जिससे चिकित्सकीय सुविधा बेहतर हो सकेंगी।प्रमुख सचिव ने स्वीकृत पद के सापेक्ष सभी पदों पर नियुक्ति करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज स्वास्थ्य सुविधा की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण है। यहाँ मानव संसाधन पर्याप्त होना चाहिए।इस दौरान मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ राजेश कुमार बरनवाल, सीएमएस डॉ आनंद मोहन वर्मा, एसडीएम सौरभ सिंह, डॉ एचके मिश्रा सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

By Javed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

41 की भीड़ में 14 ढूँढना है, सिर्फ जिनियस ही ढूंढ पाएंगे AC का इस्तेमाल करने वाले हो जाओ सावधान, इन बातों का रखे ख्याल घूँघट की आड़ में भाभियों ने हरियाणवी गाने पर मचाया धमाल, वीडियो देख लोग हुए दीवाने सिर्फ 1% लोग ‘बी’ के समुद्र के बीच छिपी 8 को पहचान पायेंगे गरीब बना देंगी फाइनेंस से जुड़ी कुछ आदतें, आज ही बदल डालें